राष्ट्र ने पुलवामा शहीदों को दी श्रद्धांजलि

सीआरपीएफ ने शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकवादी हमले में शहीद हुए 40 जवानों की पहली पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

Written by: February 14, 2020 12:03 pm

श्रीनगर। सीआरपीएफ ने शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकवादी हमले में शहीद हुए 40 जवानों की पहली पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। सीआरपीएफ ने एक ट्वीट में कहा, “‘तुम्हारे शौर्य के गीत, कर्कश शोर में खोये नहीं। गर्व इतना था कि हम देर तक रोये नहीं।’ हम न भूले हैं, न माफ किया है : हम पुलवामा में राष्ट्र की सेवा में अपने जीवन का बलिदान देने वाले अपने भाइयों को सलाम करते हैं। हम आभारी हैं, हम अपने बहादुर शहीदों के परिवारों के साथ खड़े हैं।”

Pulwama Attack

14 फरवरी, 2019 को पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के एक आत्मघाती हमलावर के उनके काफिले पर हमला करने के बाद 40 से अधिक सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर आतंकी हमले में जान गंवाने वाले सीआरपीएफ जवानों को श्रद्धांजलि दी। पीएम मोदी ने ट्वीट किया, “पिछले साल भीषण पुलवामा हमले में जान गंवाने वाले बहादुर शहीदों को श्रद्धांजलि। वे असाधारण शख्सित थे जिन्होंने हमारे देश की सेवा और रक्षा के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। भारत उनकी शहादत को कभी नहीं भूलेगा।”

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी ट्वीट कर शहीद सैनिकों को याद किया। उन्होंने कहा, “2019 में इस दिन पुलवामा (जम्मू-कश्मीर) में हुए नृशंस हमले के दौरान शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों को याद कर रहा हूं।” उन्होंने कहा, “भारत उनके बलिदान को कभी नहीं भूलेगा। पूरा देश आतंकवाद के खिलाफ एकजुट है और हम इस खतरे के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”

जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर लगभग 2,500 सुरक्षाकर्मियों को ले जा रही 78 बसों के काफिले पर पिछले साल फरवरी में पुलवामा जिले के लेथपोरा में पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद के एक आत्मघाती हमलावर ने हमला किया था, जिसके परिणामस्वरूप 40 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे और हमलावर की मौत हो गई थी। आतंकी हमले के बाद, भारतीय वायुसेना (आईएएफ) के जेट विमानों ने पिछले साल 26 फरवरी को पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के कैम्प पर बम बरसाए थे।