उमर अब्दुल्ला ने बोला हमला,कहा- ‘बीजेपी का भगवा रंग कश्मीर में आकर हरा हो गया’

जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और राज्य के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने बीजेपी के एक विज्ञापन को लेकर तंज कसा है। श्रीनगर लोकसभा सीट से बीजेपी के उम्मीदवार खालिद जहांगीर के एक विज्ञापन को लेकर उमर ने बीजेपी पर निशाना साधा है।

Written by Newsroom Staff April 5, 2019 4:03 pm

नई दिल्ली। केसरिया रंग भारतीय जनता पार्टी की पहचान है लेकिन कश्मीर में इस भगवा रंग ने हरियाली चादर ओढ़ ली है। वोटरों को लुभाने के लिए भाजपा अपने पोस्टरों, बैनरों और सोशल मीडिया पर हरे रंग का खूब इस्तेमाल कर रही है।

दरअसल जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और राज्य के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने बीजेपी के एक विज्ञापन को लेकर तंज कसा है। श्रीनगर लोकसभा सीट से बीजेपी के उम्मीदवार खालिद जहांगीर के एक विज्ञापन को लेकर उमर ने बीजेपी पर निशाना साधा है। ये पूरा विज्ञापन प्रत्याशी की तस्वीर के साथ हरे रंग में छापा गया है।


बता दें, उमर अब्दुल्ला ने अपने ट्विटर अकाउंट से इस विज्ञापन को शेयर करते हुए लिखा है। ‘बीजेपी का भगवा रंग कश्मीर में आकर हरा हो गया। मुझे नहीं लगता कि बीजेपी अपनी इस बेवकूफाना हरकरत से लोगों को बेवकूफ बना सकती है। बीजेपी घाटी में प्रचार के लिए अपना असली रंग क्यों नहीं दिखाती? ‘

इतना ही नहीं भाजपा के पोस्टरों से केसरिया रंग को गायब देख कश्मीर मामलों के विशेषज्ञ मुख्तार अहमद बाबा ने कहा कि यह कश्मीर और यहां के हालात का असर है। भाजपा को पता है कि यहां भगवा रंग को लोग कबूल नहीं करेंगे और इसलिए उसने यहां हरे रंग की अहमियत को समझते हुए भगवा चोला छोड़, हरा रंग ओढ़ लिया है।

भाजपा के प्रवक्ता अल्ताफ ठाकुर ने कहा कि हरा रंग तो बहुत अच्छा है, भगवा रंग की अहमियत से इनकार नहीं है। भाजपा के झंडे में हरा और भगवा दोनों ही रंग होते हैं। जो यह कहते हैं कि भाजपा के झंडे में हरा रंग नहीं है, उन्हें भाजपा के बारे में पता नहीं है। भाजपा ने दोनों रंग इस देश के सांप्रदायिक सदभाव को दर्शाते हैं। हरा रंग खुशहाली का प्रतीक है और भाजपा चाहती है कि यहां अमन हो खुशहाली हो, इसलिए हमने अपने चुनाव प्रचार में यहां हरे रंग को ज्यादा अहमियत दी है।

श्रीनगर-बडगाम संसदीय सीट से चुनाव लड़ रहे भाजपा उम्मीदवार खालिद जहांगीर ने कहा कि हरा रंग तो हमारे राष्ट्रीय ध्वज का हिस्सा है। इसलिए हमारे चुनाव प्रचार में इस रंग का इस्तेमाल हो रहा है, यह राष्ट्रवाद को दर्शाता है। यहां यह बताना असंगत नहीं होगा कि श्रीनगर में लालचौक के आस-पास ही खालिद जहांगीर और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हरे रंग में बड़े-बड़े होर्डिंग लगे हैं।

भाजपा के स्थानीय नेता और कार्यकर्ता सिर्फ हरा रंग और हरा झंडा ही अपने चुनाव प्रचार में इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं, वह कई जगह कुरान की आयतें भी पढ़ रहे हैं और इस्लामिक बातों का जिक्र करते हुए अपनी चुनावी बैठकों को शुरु करते हैं।