भाजपा के खिलाफ कोई बयानबाजी नहीं, महाराष्ट्र में मामला फंसा देख शिवसेना की अपने नेताओं को चेतावनी

शिवसेना की ओर से यह संदेश सीधा उद्धव ठाकरे ने दिया है। शिवसेना के संसदीय दल की बैठक में भी इस बात की जानकारी दी गयी है। उधर शिवसेना और एनसीपी-कांग्रेस का मामला अभी भी फंसा हुआ है।

Written by: November 18, 2019 8:49 pm

नई दिल्ली। शिवसेना फूंक फूंक कर कदम रख रही है। महाराष्ट्र में सरकार का मामला फंसा हुआ है। एनसीपी और कांग्रेस की ओर से उसे अभी तक ग्रीन सिग्नल नहीं मिला है। ऐसे में शिवसेना ने अपने सभी नेताओं को भाजपा के बारे में संभलकर बोलने को कहा है।BJP Shivsena

शिवसेना ने अपने नेताओं को बीजेपी के खिलाफ कोई भी व्यक्तिगत टिप्पणी ना करने को कहा है। साथ ही शिवसेना ने बीजेपी नेताओं के खिलाफ कोई व्यक्तिगत बयानबाज़ी न करने की हिदायत दी है। शिवसेना किसी भी सूरत में बीजेपी से रिश्ते इतने खराब करना नही चाहती है कि जिसकी भरपाई न हो सके।Congress Shivsena NCP

शिवसेना की ओर से यह संदेश सीधा उद्धव ठाकरे ने दिया है। शिवसेना के संसदीय दल की बैठक में भी इस बात की जानकारी दी गयी है। उधर शिवसेना और एनसीपी-कांग्रेस का मामला अभी भी फंसा हुआ है। तीनो ही पार्टियों में कॉमन मिनिमम प्रोग्राम और मंत्रिमंडल के बंटवारे को लेकर सहमति नही हो पा रही है।shivsena bjp

इस बीच शिवसेना नेता संजय रावत, एनसीपी प्रमुख शरद पवार के घर पहुंचे। शरद पवार ने सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद बयान दिया था कि महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर कोई चर्चा नहीं हुई, सिर्फ महाराष्ट्र की राजनीति पर अपडेट दिया है। इस बयान ने भी सार्वजनिक रूप में शिवसेना के खिलाफ काम किया।