लोकसभा में ओवैसी ने फाड़ी नागरिकता संशोधन बिल की कॉपी, कहा- देश फिर बंटने वाला है

इस बिल के विरोध में ओवैसी ने कहा कि, सरकार आखिर चीन के बारे में क्यों नहीं बोलती? इस बिल से देश को खतरा है। इससे पहले असदुद्दीन ओवैसी ने इस बिल के विरोध में अपनी बात रखी और कहा कि मुल्क को ऐसे कानून से बचा लीजिए।

Avatar Written by: December 9, 2019 9:13 pm

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन बिल पर चर्चा के दौरान लोकसभा में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी अपनी बात रखते हुए इतने आवेश में आ गए कि उन्होंने बिल की कॉपी को फाड़ दिया। बिल को लेकर उन्होंने कहा कि, यह बिल देश का बंटवारा करने वाला है, इससे देश का एक और बंटवारा होगा।

Owaisi

उन्होंने इस बिल को लेकर कहा कि, यह बिल हिटलर के कानून से भी बदतर है। महात्मा गांधी का जिक्र करते हुए ओवैसी ने भाषण के दौरान ही बिल की कॉपी फाड़ दी। ओवैसी ने इस बिल को संविधान की मूल आत्मा के विरुद्ध भी बताया है।

इससे पहले भी ओवैसी धार्मिक आधार पर नागरिकता बिल को लाने का विरोध करते रहे हैं। ओवैसी की इस हरकत को सदन की कार्यवाही से हटा दिया गया है।

Owaisi CAB

इस बिल के विरोध में ओवैसी ने कहा कि, सरकार आखिर चीन के बारे में क्यों नहीं बोलती? इस बिल से देश को खतरा है। इससे पहले असदुद्दीन ओवैसी ने इस बिल के विरोध में अपनी बात रखी और कहा कि मुल्क को ऐसे कानून से बचा लीजिए। असदुद्दीन ओवैसी ने लोकसभा में कहा कि सेक्युलिरज्म इस देश के बेसिक स्ट्रक्चर का हिस्सा है। यह बिल हमारे मूल अधिकारों का हनन करता है। हमारे मुल्क में सिटिजनशिप का कॉन्सेप्ट सिंगल है।

उन्होंने कहा कि, आप यह बिल लाकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का उल्लंघन कर रहे हैं। मैं आपसे हाथ जोड़कर अपील कर रहा हूं कि मुल्क को ऐसे कानून से बचा लीजिए। इस दौरान असदुद्दीन ओवैसी ने कुछ ऐसे शब्दों का विरोध भी किया, जिसे बाद में लोकसभा की कार्यवाही से हटा लिया गया।