‘नाजी लवर्स’ कहने पर ओवैसी के बयान पर EU सांसदों ने दिया करारा जवाब

जम्मू-कश्मीर के दौरे पर श्रीनगर पहुंचे यूरोपीय सांसदों की 28 सदस्य टीम ने पूरे घाटी का जायजा लिया और साथ ही प्रेस कॉन्फ्रेंस कर घाटी के हालात के बारे में जानकारी दी।

Written by: October 30, 2019 11:47 am

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के दौरे पर श्रीनगर पहुंचे यूरोपीय सांसदों की 28 सदस्य टीम ने पूरे घाटी का जायजा लिया और साथ ही प्रेस कॉन्फ्रेंस कर घाटी के हालात के बारे में जानकारी दी। अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस में यूरोपीय सांसदों ने कहा कि, कश्मीर के लोग प्रदेश में विकास चाहते हैं। उन्होंने ये भी कहा कि, भारत एक शांतिप्रिय देश है और भारतीय सेना से हमने आतंकवाद के निपटारे पर भी बात की।

EU Member

इसके साथ ही AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी द्वारा यूरोपीय सांसदों को नाजी लवर्स कहने पर उन्होंने ओवैसी को करारा जवाब देते हुए कहा कि, हम लोग नाज़ी लवर्स नहीं हैं, अगर हम होते तो हमें कभी चुना नहीं जाता। आतंकवाद अंतरराष्ट्रीय समस्या है। आतंकवाद किसी भी देश को तबाह नहीं कर सकता। इस पर रोक लगनी चाहिए। हम कश्मीर को दूसरा अफगानिस्तान बनते नहीं देखना चाहते हैं। उन्होंने इस शब्द के प्रयोग पर काफी आपत्ति भी जताई। बता दें कि  ओवैसी ने EU सांसदों की तुलना नाज़ी लवर्स से की थी और उनपर निशाना साधा था।

owaisi

आतंकवाद के खिलाफ यूरोप भारत के साथ

EU lawmakers

सांसदों ने आतंकवाद के मसले पर कहा कि हम आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में साथ हैं, आतंकवाद का मसला यूरोप के लिए भी काफी महत्वपूर्ण है। जब उनसे सवाल पूछा गया कि क्या वह इस दौरे की रिपोर्ट यूरोपीय संसद में जमा करेंगे, तो उन्होंने कहा कि वह ऐसा नहीं करेंगे।

370 भारत का आंतरिक मसला

EU 1

अनुच्छेद 370 के बारे में उन्होंने कहा कि ये भारत का आंतरिक मसला है, अगर भारत-पाकिस्तान को शांति स्थापित करनी है तो दोनों देशों को आपस में बात करनी होगी। अपने घाटी के दौरे के बारे में EU सांसदों ने कहा कि हमें वहां रहने का ज्यादा वक्त नहीं मिला, हम अधिक लोगों से नहीं मिले थे। हालांकि, उन्होंने ये भी कहा कि वहां ना जाने से बेहतर थोड़े समय के लिए जाना ही रहा।