देश

Samajwadi Party: इतना सब कुछ जानने के बावजूद भी सपा के कर्ता धर्ता ने नाहिद को टिकट देने से कोई गुरेज नहीं किया है। वजह साफ था कि कैराना मुस्लिम बहुल इलाका है, लिहाजा सपा आलाकमान को लगा कि नाहिद को टिकट देने से कैराना में सपा का विजयी पताका बुलंद होगा।

नई दिल्ली। सोशल मीडिया (Social Media) पर आए दिन किसी ना किसी नेता या मंत्री का वीडियो वायरल होता रहता...

Punjan Election 2022: बता दें कि आशु बांगड़ को आम आदमी पार्टी ने फिरोजपुर ग्रामीण (Firozpur Gramin) से विधानसभा चुनाव के लिए टिकट दिया था। फिरोजपुर में मीडिया को संबोधित करते हुए आशु बांगड़ ने इस्तीफे का ऐलान कर पार्टी को चौंका दिया।

Uttarakhand :उन्होंने यहां तक कहने से भी गुरेज नहीं किया प्रदेश में कांग्रेस की तरफ से महिलाओं को सशक्त करने की दिशा में की जा रही कोशिशों की करनी और कथनी में जमीन आसमान सरीखा फर्क है। उन्होंने कहा कि, उत्तराखंड में 20 फीसद टिकट महिलाओं को दिए जाने का प्रावधान है।

BJP MP Sanjeev Balyan met BKU president Naresh Tikait: दरअसल, नरेश टिकैत और संजीव बालियान, दोनों ही मुजफ्फरनगर से ताल्लुक रखते हैं और एक ही खाप से भी आते हैं। बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले नरेश टिकैत के हाथ का ऑपरेशन हुआ था और बालियान उनकी तबियत का हालचाल लेने के लिए ही उनके घर गए थे।

UP Election 2022: तौकीर रजा के इस रुख से साफ है कि यूपी में मुसलमान वोटों में बंटवारा हो सकता है। सपा पहले से मुसलमानों के वोट अपने पाले में करती रही है। सपा के चीफ रहे मुलायम सिंह यादव को तो बाकायदा इसी वजह से बीजेपी और अन्य दलों के लोग मौलाना मुलायम तक कहते रहे हैं।

UP Election 2022: सपा अखिलेश यादव ने ट्वीट कर लिखा, ''सपा के कार्यक्रम-कार्यालय पर पूरी पाबंदी और गाड़ियों के चालान भी लेकिन ‘कुछ दिनों के बाकी बचे मुख्यमंत्री’ व अमरोहा के भाजपा प्रत्याशी आचार संहिता और कोरोना गाइडलाइन्स का सरेआम मज़ाक़ उड़ा रहे हैं। ‘निर्वाचन-न्याय’ को सुनिश्चित करना चुनाव आयोग का परम-धर्म है! कोई है ?''

Punjab Election: बता दें कि पंजाब विधानसभा चुनाव को लेकर महज मतदान की तारीखों में ही बदलाव किया गया है, शेष सभी चुनावी गतिविधियों जस की तस बरकरार हैं। पंजाब चुनाव को लेकर नतीजों की घोषणा  निर्धारित की गई तिथि 10 मार्च को ही होगी।

Karnataka: सरकार को इस पर ध्यान देने की आवश्यकता है, लेकिन अफसोस सरकार इन सभी चीजों पर ध्यान देने की बजाय संस्कृति विद्यालय निर्माण करने जैसा अनुपोयगी कदम उठा रही है। कांग्रेस प्रवक्ता ने आगे कहा कि हमें और हमारे राज्य को कौशल युक्त विश्वविद्यालयों की आवश्यकता है न  की संस्कृत विश्वविद्यालय की।