देश

Pappu Yadav Arrested: इसकी जानकारी खुद उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से दी है। पप्पू यादव ने ट्वीट कर लिखा, मुझे गिरफ्तार कर पटना के गांधी मैदान थाना ले आया है।

Andhra Pradesh: चित्तूर के जिला कलेक्टर हरिनारायण ने यह जानकारी दी। मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने घटना पर दुख जताया है और मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

Violence In Bengal: दरअसल गृह मंत्रालय ने फैसला किया है कि बंगाल के सभी भाजपा विधायकों को X-कैटेगरी की सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी। सभी 77  भाजपा विधायकों को संभावित खतरे के मद्देनजर केंद्रीय अर्धसैनिक बल के जवान सुरक्षा मुहैया कराएंगे।

Encounter In Anantnag: जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के अनंतनाग (Anantnag) के कोकरनाग इलाके (Kokernag area) में आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ चल रही है।

Uttar Pradesh: सीएम योगी ने निर्देशित किया कि एम्बुलेंस 108 का 75 प्रतिशत प्रयोग कोविड-19 में किया जाए और आरआरटी को वाहन उपलब्ध कराए जाएं। उन्होंने कहा कि यदि समय पर मरीज को सुविधा दी जाए, तो निश्चित वह आरोग्यता को प्राप्त करेगा। रोग को छिपाया न जाए, अगर बीमारी है, तो उसका उपचार आवश्यक है।

Uttar Pradesh: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में प्रदेश में वृहद स्तर पर चलाए गए अर्ली, अग्रेसिव, ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट अभियान के व्यापक परिणाम सामने आए हैं। पिछले 10 दिनों में राज्य में कोरोना के एक्टिव केस में 85,000 से अधिक की कमी आई है। कोरोना के फर्स्ट वेव में उत्तर प्रदेश ने बेहतर मुकाबला किया था, सेकंड वेव में भी उसी प्रबंधन के साथ काम किया जा रहा है।

Uttar Pradesh: काजी-ए-जिला सालिमुल कादरी के इंतकाल के बाद उनके जनाने में उनके चाहने वालों व मुरीदों की भारी भीड़ उमड़ी। मुरीदों की भीड़ को देख पुलिस व प्रशासन सामाजिक दूरी बनाये रखने की कोशिश की, लेकिन मुरीदों की भीड़ के आगे सब बेबस नजर आये।

Oxygen Crisis: नवनीत कालरा ने मामले में अग्रिम जमानत की मांग करते हुए साकेत कोर्ट का रुख किया था। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने उसके खिलाफ एक गहन अभियान चलाया था। एक विशेष न्यायाधीश ने जांच अधिकारी को कालरा के आवेदन पर मंगलवार तक जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया है।

Coronavirus: आरएसएस ने कोविड-19 के इस काल में सकारात्मक विकास और सफलता की कहानियों को बढ़ावा देने और प्रचारित करने का निर्णय लिया है। हर दिन, राज्य स्तर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचार प्रसार (प्रचार विंग), साथ ही देशभर में स्वयंसेवकों (संचार केंद्रों) द्वारा चलाए जाते हैं, इस तरह की सकारात्मक कहानियों को इकट्ठा करते हैं और उन्हें मीडिया के साथ-साथ सोशल मीडिया पर भी साझा करते हैं।