पाकिस्तान का करतारपुर से जुड़ा ‘कश्मीर प्लान’ हुआ बेनकाब, इमरान के मंत्री का कबूलनामा

पाकिस्तान के रेल मंत्री का कहना है कि करतारपुर गलियारे का खुलना सेना प्रमुख जनरल बाजवा और इमरान सरकार की बड़ी जीत है। इसे ऐतिहासिक जीत बताते हुए रेल मंत्री ने पाकिस्तान में विपक्षी दलों को अक्ल के अंधे कहा और कहा कि इस गलियारे का फ़ायदा कश्मीर को कितना मिलने वाला है।

Written by: November 7, 2019 3:43 pm

नई दिल्ली। करतारपुर कॉरिडोर सिख श्रद्धालुओं के लिए एक बड़ा तोहफा है। लेकिन क्या इसके जरिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और सेना प्रमुख जनरल बाजवा ने भारत के खिलाफ साजिश रचने की कोशिश की है? इमरान खान के मंत्री ने अपने बयान में पाकिस्तान की एक साजिश का खुलासा किया है और साथ ही करतारपुर के जरिए पाकिस्तान के एक प्लान को बेनकाब भी किया है।

shekh rashid

पाकिस्तान के रेल मंत्री का कहना है कि करतारपुर गलियारे का खुलना सेना प्रमुख जनरल बाजवा और इमरान सरकार की बड़ी जीत है। इसे ऐतिहासिक जीत बताते हुए रेल मंत्री ने पाकिस्तान में विपक्षी दलों को अक्ल के अंधे कहा और कहा कि इस गलियारे का फ़ायदा कश्मीर को कितना मिलने वाला है।

shekh rashid

शेख राशिद ने आगे अपना बयान देते हुए कहा कि, करतारपुर कॉरिडोर ने मोदी सरकार के सीने पर ऐसी मूंग दली है जिसका इनको अंदाज़ा नहीं है।


वहीं रक्षा विशेषज्ञ ध्रुव कटोच ने करतारपुर कॉरिडोर पर पाकिस्तान के बदलते रवैये को देखते हुए कहा कि भारतीय सुरक्षा एजेंसियां पूरी तरह से चौकस हैं। पाकिस्तान का लक्ष्य अलगाववाद को बढ़ावा देना है। बता दें कि पाकिस्तान ने विशिष्ट लोगों के लिए इंतजामों और जरूरी चीजों के बारे में अवगत कराने के लिए अग्रिम टीम भेजने के भारत के अनुरोध पर अब तक जवाब नहीं दिया है।

imran khan on kartarpur

करतारपुर कॉरिडोर श्रद्धालुओं के लिए 9 नवंबर को खोला जाना है। केंद्र सरकार के सूत्रों ने कहा था कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी उन 575 लोगों में शामिल हैं जो गुरुद्वारा दरबार साहिब जाने वाले उद्घाटन जत्थे में शामिल होंगे। पाकिस्तान ने सिद्धू को ऐतिहासिक करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया है।