Parliament Monsoon Session: आज से संसद के पास धरना देंगे किसान, जानिए दिल्ली पुलिस की किन शर्तों को माना

Parliament Monsoon Session: उधर, मंगलवार को कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने फिर कहा था कि मोदी सरकार किसानों का हित चाहती है और कृषि कानूनों में किसी भी खामी पर चर्चा के लिए तैयार है। सरकार पहले भी किसान संगठनों से कई दौर की बातचीत कर चुकी है।

Avatar Written by: July 22, 2021 8:53 am
Jantar_Mantar

नई दिल्ली। तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे किसान संगठन के नेता और सदस्य आज से राजधानी में संसद के पास धरना देंगे। किसान संगठनों ने पहले संसद तक मार्च निकालने और वहां धरना देने का ऐलान किया था, लेकिन अब उन्होंने दिल्ली पुलिस की कुछ शर्तों को मानने की बात कही है। दिल्ली पुलिस ने किसान नेताओं से साफ कह दिया था कि किसी भी सूरत में किसानों को संसद के करीब पहुंचने नहीं दिया जाएगा। मंगलवार को पुलिस और किसान नेताओं के बीच इस मसले पर सहमति नहीं बन सकी थी, लेकिन बुधवार को किसानों ने दिल्ली पुलिस की शर्तें मान लीं।

इन शर्तों के मुताबिक किसानों को संसद मार्ग पर जंतर-मंतर के करीब धरना देने की मंजूरी दी गई है। आंदोलन स्थलों से रोज दिल्ली पुलिस 200 किसानों को लेकर जंतर-मंतर पहुंचेगी और शाम को धरना खत्म होने के बाद उन्हें अपनी सुरक्षा में आंदोलन स्थल तक लेकर जाएगी। किसानों का धरना रोज 11 बजे से शाम 5 बजे तक चलेगा। इससे पहले या बाद में धरना नहीं दिया जा सकेगा।

बता दें कि इससे पहले किसानों ने संसद मार्च करने का ऐलान किया था। किसान नेता राकेश टिकैत ने आंदोलनकारियों से कहा था कि वे बड़ी जंग के लिए तैयार रहें। राकेश ने ट्रैक्टरों में भरकर किसानों को दिल्ली ले जाने की बात कही थी, लेकिन अब दिल्ली पुलिस की बात उन्होंने मान ली है। उधर, मंगलवार को कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने फिर कहा था कि मोदी सरकार किसानों का हित चाहती है और कृषि कानूनों में किसी भी खामी पर चर्चा के लिए तैयार है। सरकार पहले भी किसान संगठनों से कई दौर की बातचीत कर चुकी है, लेकिन किसान संगठन और खासकर राकेश टिकैत तीनों कृषि कानूनों को पहले रद्द करने की मांग पर अड़े हुए हैं। सरकार ने साफ कह दिया है कि कानून रद्द नहीं होंगे, जो खामियां पता चलेंगी उन्हें ठीक कर दिया जाएगा।

Support Newsroompost
Support Newsroompost