पीएम मोदी और शरद पवार की मुलाकात, NCP केंद्र में निभा सकती है तीन अहम रोल!

हालांकि इस मुलाकात को लेकर सियासी गलियारों में काफी चर्चा है और कहा ये तक जा रहा है कि महाराष्ट्र में भाजपा के साथ मिलकर एनसीपी सरकार बना सकती है और इसके एवज में एनसीपी को केंद्र में तीन अहम मंत्रालय दिए जा सकते हैं।

Written by: November 20, 2019 2:48 pm

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में जारी सियासी घमासान के बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी(एनसीपी) प्रमुख शरद पवार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुलाकात की। इस बैठक में गृहमंत्री अमित शाह और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण भी मौजूद थी। इस मुलाकात के बारे में कहा गया था कि महाराष्ट्र में किसानों की समस्याओं को लेकर एनसीपी प्रमुख ने पीएम मोदी से मुलाकात की है।

pm modi sharad pawar

हालांकि इस मुलाकात को लेकर सियासी गलियारों में काफी चर्चा है और कहा ये तक जा रहा है कि महाराष्ट्र में भाजपा के साथ मिलकर एनसीपी सरकार बना सकती है और इसके एवज में एनसीपी को केंद्र में तीन अहम मंत्रालय दिए जा सकते हैं। इसके साथ ही मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो साल 2022 में शरद पवार को राष्ट्रपति पद का भी ऑफर किया जा सकता है।

पवार का सस्पेंस वाला बयान

sharad pawar

महाराष्ट्र में पिछले कुछ दिनों में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की महागठबंधन की सरकार बनाने की कवायद तेज हुई थी। हालांकि इस बीच शरद पवार ने यह बयान देकर कि सोनिया गांधी से सरकार बनाने को लेकर उनकी कोई चर्चा नहीं हुई है, नया सस्पेंस पैदा कर दिया। यही नहीं, पवार से जब यह पूछा गया कि शिवसेना के साथ सरकार बनने के क्या चांस हैं तो उन्होंने कहा कि’बीजेपी और शिवसेना से पूछो, दोनों साथ थे।

राज्यसभा में पीएम मोदी ने की थी एनसीपी की तारीफ

pm modi sharad pawar maharshtra

उधर, पीएम नरेंद्र मोदी ने राज्यसभा में एनसीपी के अनुशासन की तारीफ कर दी। इसके बाद से ही सियासी हलकों में नए समीकरण को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं तेज हो गईं। अब पीएम मोदी और पवार की मुलाकात के बाद यह चर्चा जोरों पर है कि महाराष्ट्र में नया सियासी समीकरण बन सकता है और संभव है कि एनसीपी-बीजेपी मिलकर सरकार बना लें।

शरद पवार को मिल सकता है राष्ट्रपति पद का ऑफर

sharad pawar and narendra modi

इन चर्चाओं पर विश्वास करें तो माना जा रहा है कि एनसीपी के कुछ सांसदों ने सरकार बनाने के लिए शरद पवार से बीजेपी के साथ जाने की अपील की है। ये नेता इसके लिए अजीत पवार को भी मनाने में जुटे हैं। चर्चाओं की मानें तो अगर एनसीपी सरकार बनाने के लिए बीजेपी से हाथ मिलाती है तो राज्य मंत्रिमंडल में तो उसे कई अहम पद मिलेंगे ही केंद्र में भी पार्टी को 3 अहम पद दिए जाएंगे। इतना ही नहीं वर्तमान राष्ट्रपति का कार्यकाल जुलाई 2022 में खत्म हो रहा है और इसके बाद बीजेपी की तरफ से पवार का नाम राष्ट्रपति के लिए आगे बढ़ाया जा सकता है।

इधर शिवसेना ने किया दावा, गुरुवार तक बाधा दूर

Sanjay Raut, Shiv Sena

हालांकि इन सबके बीच शिवसेना ने फिर दावा किया है कि महाराष्ट्र में उनकी ही सरकार बनेगी। शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने कहा कि गुरुवार तक सभी बाधाएं दूर हो जाएंगी। राउत ने कहा, ‘सभी बाधाएं खत्म हो गई हैं और कल तक स्थिति साफ हो जाएगी।’ उन्होंने पवार और पीएम मोदी की मुलाकात को लेकर जारी अटकलों पर भी विराम लगाने की कोशिश की। राउत ने दो टूक अंदाज में कहा कि पार्टी के अंदर एनसीपी से गठबंधन को लेकर कोई हिचक नहीं है।