पीएम मोदी और ट्रंप की मुलाकात, अमेरिकी राष्ट्रपति ने बांधे तारीफों के पुल

अमेरिकी राष्ट्रपति ने पीएम मोदी से मिलते ही सबसे पहले उनके हालिया लोकसभा चुनाव 2019 में ऐतिहासिक जीत की बधाई दी। उम्मीद से परे उन्होंने पीएम मोदी की जीत को बड़ी कामयाबी बताया। उन्होंने कहा- आपने बहुत अच्छा काम किया है।

Written by: June 28, 2019 2:22 pm

नई दिल्ली। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच जापान के ओसाका में मुलाकात हुई। पीएम मोदी के दूसरे कार्यकाल में दोनों नेताओं के बीच ये पहली मुलाकात थी और कहा जा रहा था कि, जिस प्रकार से भारत ने अमेरिका से निर्यात वस्तुओं पर टैरिफ बढ़ाई है, इसके बाद दोनों देशों के नेताओं के बीच मुलाकात तलखी भरी हो सकती है। लेकिन हुआ इसका उलट। बल्कि पीएम मोदी और ट्रंप एक दूसरे से काफी ज्यादा गर्मजोशी से मिले। इस दौरान ट्रंप ने पीएम मोदी के तारीफों के पुल भी बांधे।

1. अमेरिकी राष्ट्रपति ने पीएम मोदी से मिलते ही सबसे पहले उनके हालिया लोकसभा चुनाव 2019 में ऐतिहासिक जीत की बधाई दी। उम्मीद से परे उन्होंने पीएम मोदी की जीत को बड़ी कामयाबी बताया। उन्होंने कहा- आपने बहुत अच्छा काम किया है।

pm modi 1

2. पीएम मोदी को लोकसभा चुनाव की जीत की बधाई के बाद प्रेसिडेंट ट्रंप ने उनकी तारीफों के पुल बांधने शुरू कर दिए। उन्होंने उस दौर की बात छेड़ दीं जब पीएम मोदी पहली बार पीएम बने थे। ट्रंप ने कहा, “मुझे याद है जब आप पहली बार पीएम बने थे तो भारत में कितने छोटे-छोटे ग्रुप सक्रिय थे।”

trump

3. ट्रंप ने कहा कि जब नरेंद्र मोदी पहली बार भारत के पीएम बने थे तो उनके देश में कई छोटे-छोटे ग्रुप सक्रिय थे। वे देश के लिए घातक थे। लेकिन पीएम मोदी ने उन सभी समूहों को एक साथ आकर काम करने के लिए बाधित कर दिया। यह उनकी एक बड़ी जीत है।

modi

4. इसके बाद ट्रंप मोदी की क्षमताओं पर बात करने लगे। उन्होंने कहा- आपने जिस तरह भारत को एक साथ खड़ा किया है, वह काबिले-तारीफ है। ट्रंप के मुताबिक गुटबाजी भारत की पुरानी कमजोरी रही है। प्रागैतिहासिक काल से ही भारत अगर कभी कमजोर पड़ा है तो वो उसकी गुटबाजी रही है। ऐसे में पीएम मोदी ने देश को गुटबाजी से उबार कर एक बड़ा काम किया है। यह उनकी शानदार नेतृत्व क्षमता का परिचायक है।

japan

5. पीएम मोदी की तारीफों के पुल बांधने के बाद ट्रंप ने दो टूक शब्दों में भारत और अमेरिका के आगामी रिश्तों की दिशा को पूरी तरह से साफ कर दिया। उन्होंने कहा, “मैं इस बात को लेकर पूरी तरह से आश्वस्त हूं कि भारत और अमेरिका कई मोर्चों पर एक साथ काम करेंगे। इनमें रक्षा और हमारी मिलिट्री ताकत पर होने वाले काम प्रमुखता से शामिल हैं। इतना ही नहीं आज, रक्षा और ट्रेड मसलों पर विस्तार से बात भी की जाएगी। हमें कोई जल्दबाजी नहीं है।”