पीएम मोदी का शरद पवार पर तंज, कहा- हवा का रुख पता है, इसलिए नहीं लड़ रहे चुनाव

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को महाराष्ट्र के वर्धा में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस और एनसीपी पर जमकर निशाना साधा। प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने चौकीदारों का अपमान किया है, वो कहते हैं कि मैं शौचालयों की चौकीदारी करता हूं ये चौकीदारों का अपमान है। कांग्रेस की गाली मेरे लिए गहना है। 

Avatar Written by: April 1, 2019 12:21 pm

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को महाराष्ट्र के वर्धा में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस और एनसीपी पर जमकर निशाना साधा।प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने चौकीदारों का अपमान किया है, वो कहते हैं कि मैं शौचालयों की चौकीदारी करता हूं ये चौकीदारों का अपमान है। कांग्रेस की गाली मेरे लिए गहना है।

इस दौरान पीएम मोदी ने शरद पवार पर तंज कसते हुए कहा कि एक समय था जब शरद पवार जी सोचते थे कि वो भी प्रधानमंत्री बन सकते हैं। उन्होंने ऐलान भी किया था कि वो ये चुनाव लड़ेंगे। लेकिन अचानक एक दिन बोले कि मैं तो यहां राज्यसभा में ही खुश हूं, मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा। वे भी जानते हैं कि हवा का रुख किस तरफ है। पीएम मोदी ने कहा कि एनसीपी में इस समय पारिवारिक युद्ध चल रहा है। पार्टी शरद पवार के हाथों से निकलती जा रही है और स्थिति ये है कि उनके भतीजे धीरे-धीरे पार्टी पर कब्जा करते जा रहे हैं। इसी वजह से एनसीपी को टिकट बंटवारे में भी दिक्कत आ रही है।

Narendra Modi

पीएम मोदी ने कहा कि साथियों आप ये भी मत भूलिए कि ये वही  कांग्रेस और एनसीपी का गठबंधन है जिसने आजाद मैदान में उन्मादी भीड़ को शहीदों के स्मारक को जूते से रौंदने की खुली छूट दी थी। उन्होंने कहा कि वोट-बैंक की राजनीति के लिए एनसीपी और कांग्रेस किसी भी हद तक जा सकती हैं। इस देश के करोड़ों लोगों पर हिंदू आंतकवाद का दाग लगाने का प्रयास कांग्रेस ने ही किया है।

उन्होंने कहा कि सुशील कुमार शिंदे जब भारत सरकार में मंत्री थे, तो उन्होंने इसी महाराष्ट्र की धरती से हिंदू आतंकवाद की चर्चा की थी। पीएम ने कहा कि कांग्रेस ने हिन्दुओं का जो अपमान किया है, कोटि कोटि जनता को दुनिया के सामने नीचा दिखाने का जो पाप किया है, ऐसी कांग्रेस को माफ किया जा सकता है।

Narendra Modi

पीएम मोदी ने कहा कि महाराष्ट्र में कांग्रेस और एससीपी का गठबंधन, कुंभकरण की तरह है। जब वो सत्ता में होते हैं तो 6-6 महीने के लिए सोते हैं। 6 महीने में कोई एक उठता है और जनता का पैसा खाकर फिर सोने चला जाता है।