लाल किले से बोले पीएम मोदी, “अनुच्छेद 370 रद्द कर सरदार पटेल के सपने को पूरा किया”

लाल किले से देश को संबोधित करने से पहले उन्होंने राजघाट पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की और सीधे लाल किले के लाहौरी गेट पहुंचे, जहां उनका स्वागत रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद नाइक और रक्षा सचिव संजय मित्रा ने किया।

Written by: August 15, 2019 9:23 am

नई दिल्ली। भारत के 73वें स्वंतत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से राष्ट्र को संबोधित करते हुए देश को शुभकामनायें दीं। अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा  10 सप्ताह से भी कम समय में अनुच्छेद 370, 35 ए को रद्द कर राजग सरकार ने प्रथम गृह मंत्री सरदार पटेल के सपने को पूरा किया है। उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 ने जम्मू-कश्मीर में विकास को रोक रखा था।


प्रधानमंत्री ने कहा कि जो काम 70 सालों में नहीं किया गया उसे हमने 70 दिनों में कर दिखाया। इससे पहले उन्होंने लाल किले पर ध्वजारोहण किया। प्रधानमंत्री ने देशवासियों को ट्विटर के जरिए स्वतंत्रता दिवस और रक्षा बंधन की शुभकामनाएं भी दी। लाल किले से देश को संबोधित   करने से पहले उन्होंने राजघाट पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की और सीधे लाल किले के लाहौरी गेट पहुंचे, जहां उनका स्वागत रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद नाइक और रक्षा सचिव संजय मित्रा ने किया। बाद में, उन्हें सेना, नौसेना, वायु सेना और दिल्ली पुलिस की एक टुकड़ी ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया। उन्होंने फिर ध्वजारोहण किया।

आपको बता दें कि 2014 में भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए के सत्ता में आने के बाद से यह प्रधानमंत्री के रूप में राष्ट्र के लिए उनका लगातार छठा संबोधन होगा। पीएम मोदी ने कहा कि, देश को स्वास्थ्य सेवाओं पर अधिक ध्यान देना चाहिए। उन्होंने कहा, “राष्ट्र को बेहतर स्वास्थ्य सेवा पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।”

बाढ़ प्रभावित राज्यों को लेकर प्रधानमंत्री ने जताया दुख

PM ने लाल किले की प्राचीर से बाढ़ प्रभावित राज्यों की स्थिति को लेकर दुख जताया। उन्होंने कहा, “बाढ़ प्रभावित राज्यों की सरकारें केंद्र सरकार, एनडीआरएफ (राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल) राहत व बचावकर्मी और सेना सभी स्थिति से निपटने के लिए पूरी कोशिशें कर रहे हैं।”

मुस्लिम बहनों के सम्मान के लिए खत्म किया तीन तलाक

उन्होंने कहा कि राजनीति से परे होकर सरकार ने मुस्लिम बहनों को न्याय और सम्मान दिलाने के लिए तीन तलाक जैसी कुप्रथा को खत्म किया। उन्होंने कहा, “सरकार ने राजनीति से परे होकर, मुस्लिम बहनों को सम्मान और न्याय दिलाने के लिए तीन तलाक जैसी कुप्रथा को खत्म किया है।”