प्रज्ञा ठाकुर ने गोड्से वाले बयान पर मांंगी माफी, मगर इसपर PM मोदी ने क्या कहा देखिये

पीएम मोदी ने एक निजी चैनल से बात करते हुए कहा, “गांधी जी या गोडसे के बारे में जो बयान दिए गए हैं वो बहुत ख़राब है और समाज के लिए बहुत गलत हैं।

Avatar Written by: May 17, 2019 3:38 pm

नई दिल्ली। बीजेपी नेता और भोपाल से चुनाव लड़ रही साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने नाथूराम गोड्से को देशभक्त बताया तो कांग्रेस ने उनकी आलोचना करते हुए कहा कि, प्रज्ञा ठाकुर के बयान से भाजपा की हिंसक मानसिकता सामने आ गई है। भाजपा नेता के द्वारा दिए गए इस बयान पर कांग्रेस हमलावर है और चुनावी मुद्दा बनाने के मूड है।

क्या कहा पीएम मोदी ने

हालांकि अपने बयान को लेकर प्रज्ञा ठाकुर माफी मांग चुकी हैं। उनके इस बयान पर पीएम मोदी ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। पीएम मोदी ने एक निजी चैनल से साक्षात्कार में कहा, “गांधी जी या गोडसे के बारे में जो बयान दिए गए हैं वो बहुत ख़राब है और समाज के लिए बहुत गलत हैं। ये अलग बात है कि उन्होंने माफ़ी मांग ली, लेकिन मैं उन्हें मन से कभी माफ़ नहीं कर पाऊंगा।”

प्रज्ञा ठाकुर का बयान

बता दें कि प्रज्ञा ठाकुर ने देवास लोकसभा सीट पर 19 मई को होने वाले चुनाव के लिए पार्टी प्रत्याशी महेन्द्र सोलंकी के समर्थन में 16 मई को आगर मालवा में रोड शो किया था। इसी रोड शो के दौरान एक सवाल के जवाब में स्थानीय न्यूज चैनल से उन्होंने कहा था, ”नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे। गोडसे को आतंकी बोलने वाले खुद के गिरेबान में झांक कर देखें। अबकी बार चुनाव में ऐसा बोलने वालों को जवाब दे दिया जाएगा।”

Narendra Modi

भाजपा ने भी झाड़ा था पल्ला

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा कि, इस बयान के लिए हम प्रज्ञा ठाकुर से स्पष्टीकरण मांगेंगे। भाजपा की तरफ से ये भी कहा गया कि प्रज्ञा ठाकुर को इस बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए। बीजेपी की किरकिरी होते देख गुरुवार(16 मई) को दिन में दिए इस बयान पर प्रज्ञा ठाकुर ने शाम होते-होते आखिरकार माफी मांग ली।

कांग्रेस ने क्या कहा था

कांग्रेस ने प्रज्ञा ठाकुर के इस बयान पर कहा था कि “साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के इस बयान से भाजपा का हिंसक रुप सामने आ गया है। साध्वी ने अपने इस बयान से देश का अपमान किया है और देश की आत्मा को छलनी किया है।”

प्रज्ञा ठाकुर ने मांग ली थी माफी

भोपाल से बीजेपी मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने दावा किया कि पार्टी के कहने पर उन्होंने अपना बयान वापस ले लिया है और देश से माफी मांगी है। पार्टी ने हिदायत दी है कि आगे से ऐसा नहीं बोला जाए और इसका ध्यान रखा जाए।