PM का कांग्रेस पर बड़ा हमला, कहा- सत्ता बचाने के लिए देश को बना दिया था जेलखाना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कहा कि इस प्रस्ताव का धन्यवाद देश की जनता का धन्यवाद है। एक सशक्त, सुरक्षित राष्ट्र का सपना हमारे देश के अनेकों महापुरुषों ने देखा है और उसे पूरा करने के लिए अधिक गति के साथ हम सबको मिलकर आगे बढ़ना है।

Written by Newsroom Staff June 25, 2019 5:25 pm

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कहा कि इस प्रस्ताव का धन्यवाद देश की जनता का धन्यवाद है। एक सशक्त, सुरक्षित राष्ट्र का सपना हमारे देश के अनेकों महापुरुषों ने देखा है और उसे पूरा करने के लिए अधिक गति के साथ हम सबको मिलकर आगे बढ़ना है।

पीएम ने कहा कि आज के वैश्विक वातावरण में भारत को यह अवसर खोना नहीं चाहिए। देश की आकांक्षाओं को पूरा करने में आने वाली हर चुनौती को हम पार कर सकते हैं। पीएम मोदी ने कहा कि इस चर्चा में करीब 60 सांसदों ने हिस्सा लिया, जो पहली बार आए हैं उन्होंने अच्छे ढंग से अपनी बात रखी और चर्चा को सार्थक बनाने का काम किया। अनुभवी लोगों ने अपनी तरह से चर्चा को आगे बढ़ाया।

लोकसभा में एनके प्रेमचंद्रन ने कहा कि धन्यवाद प्रस्ताव के खिलाफ मेरी ओर से सदन में 40 संशोधन लाए गए हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति के भाषण के जरिए 5 साल के हासिल बताए गए भविष्य की किसी नीति पर कोई चर्चा नहीं की गई।

आपातकाल को लेकर पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधा। पीएम ने कहा कि 25 जून को ही देश की मीडिया को दबोच दिया गया था, देशभर में महापुरुषों को जेल के अंदर डाल दिया गया था।

इसके अलावा पीएम मोदी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि पहले न पूर्व पीएम नरसिंहा राव को भारत रत्न मिला, ना ही मनमोहन सिंह को पहले कार्यकाल के बाद भारत रत्न नहीं मिला। परिवार से बाहर किसी को कुछ नहीं मिलता। वो हम थे जिन्होंने प्रणब दा को भारत रत्न दिया, हमने यह नहीं देखा कि किस पार्टी से आते थे।

इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि 2004 से 2014 तक एक बार भी अटलजी के कामों की तारीफ नहीं की गई। नरसिंहा राव तक के कामों का जिक्र नहीं हुआ।

पीएम मोदी का विपक्ष पर तंज
पीएम मोदी ने कहा कि कहा गया कि हमारी ऊंचाई को कोई छू नहीं सकता है। हम किसी की लकीर छोटी करने में समय बर्बाद नहीं करते हैं, जबकि अपनी लकीर बड़ी करने में जिंदगी खपा देते हैं। आप इतनी ऊंचाई पर चले गए हैं कि आपको जमीन दिखाई नहीं देती है, आप जड़ से उखड़ चुके हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि पिछले 5 साल के कार्यकाल में हमारे मन में भाव रहा कि जिसका कोई नहीं है, उसकी केवल सरकारें होती हैं। कई दशकों के बाद देश ने एक मजबूत जनादेश दिया है। एक सरकार को फिर से लाए हैं और पहले से ज्यादा शक्ति देकर लाए हैं।