हेमंत करकरे पर साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर के बयान से भाजपा की दूरी, कहा- उनका निजी बयान

प्रज्ञा ठाकुर के इस बयान के बाद से विवाद बढ़ गया। कांग्रेस इसे शहीदों के अपमान से जोड़कर देख रही है। हालांकि भाजपा ने खुद को इस बयान से अलग कर लिया है।

Avatar Written by: April 19, 2019 6:28 pm

नई दिल्ली। भोपाल लोकसभा सीट से दिग्विजय सिंह के खिलाफ भाजपा उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर का हेमंत करकरे पर दिया गया ताजा बयान विवादों में आ गया है। बता दें कि पूर्व एटीएस चीफ हेमंत करकरे ने मुंबई हमले में आतंकियों से लड़ते हुए अपनी जान गंवा दी थी।

प्रज्ञा ठाकुर का आरोप है कि हेमंत करकरे ने उनके साथ बदसलूकी की थी और उन्हें मालेगांव ब्लास्ट में फंसाने की पूरी कोशिश की थी। उन्होंने हेमंत करकरे को लेकर कहा कि, ‘मैंने कहा तेरा (मुंबई एटीएस चीफ हेमंत करकरे) सर्वनाश होगा। ठीक सवा महीने में सूतक लगा है, जिस दिन मैं गई थी उस दिन उसे सूतक लग गया था। ठीक सवा महीने में आतंकवादियों ने उसको मारा और उसका अंत हो गया।’

प्रज्ञा ठाकुर के इस बयान के बाद से विवाद बढ़ गया। कांग्रेस इसे शहीदों के अपमान से जोड़कर देख रही है। हालांकि भाजपा ने खुद को इस बयान से अलग कर लिया है।

भाजपा ने एक बयान जारी कर कहा कि, “भारतीय जनता पार्टी का स्पष्ट मानना है कि स्वर्गीय हेेमंत करकरे आतंकवादियों से बहादुरी के साथ लड़ते हुए वीरगति को प्राप्त हुए थे। भाजपा ने उन्हें हमेशा शहीद माना है। जहां तक साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के बयान की बात है तो वो उनका निजी बयान है, जो सालों तक शारीरिक और मानसिक प्रताड़ना के कारण दिया गया होगा।”

भाजपा प्रवक्‍ता नलिन कोहली ने शुक्रवार को कहा कि हम देश के लिए शहीद होने वाले हर बेटे बेटियों का सम्‍मान करते हैं। हेमंत करकरे जी को लेकर साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर ने जो बयान दिया है वह उनके निजी विचार हैं, क्‍योंकि उनसे पूछताछ की गई थी। हम हेमंत करकरे जी की शहादत का सम्‍मान करते हैं। हम इस पर राजनीति नहीं करेंगे।

Support Newsroompost
Support Newsroompost