प्रियंका गांधी की सलाह पर उन्नाव मामले में “रोटी” सेंक रही कांग्रेस 

यूपी कांग्रेस बेहद जर्जर स्थिति में है। आपसी शक और अविश्वास का आलम यह है कि कांग्रेस के अपने ही नेताओं को गद्दार बताकर पार्टी से निकाला जा रहा है।

Written by: August 3, 2019 12:28 pm

नई दिल्ली। यूपी कांग्रेस बेहद जर्जर स्थिति में है। आपसी शक और अविश्वास का आलम यह है कि कांग्रेस के अपने ही नेताओं को गद्दार बताकर पार्टी से निकाला जा रहा है। इन सबके बीच प्रियंका गांधी ने यूपी कांग्रेस को उन्नाव मामले पर जमकर राजनीति फैलाने की सलाह दी है। प्रियंका की सलाह पर अमल करते हुए यूपी कांग्रेस ने अब  इस मामले पर आज से हस्ताक्षर अभियान शुरू करने का फैसला किया है।

Unnao protest

यूपी कांग्रेस आज से लेकर छह अगस्त तक ये अभियान चलाएगी। इन तीन दिनों तक कांग्रेस इस अभियान के तहत आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को  तिहाड़ जेल में शिफ्ट करने की मांग करेगी। कांग्रेस की मांग यह भी है कि घायल पीड़िता और वकील के उच्च स्तरीय इलाज की व्यवस्था की जाए। विधायक की सदस्यता रद्द की जाए, पीड़िता के परिवार को एक करोड़ रुपये व उसके चाचा को एक महीने के लिए पैरोल पर रिहा किया जाए।

प्रियंका गांधी ने ये जिम्मेदारी कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजय कुमार लल्लू को सौंपी है। कांग्रेस ये सब तब कर रही है जबकि सुप्रीम कोर्ट पीड़िता से जुड़े सभी मामलों को दिल्ली शिफ्ट कर चुका है। 14 दिनों में इस मामले की जांच पूरी करने और 45 दिनों के भीतर सुनवाई पूरी करने का आदेश दे चुका है।

पीड़िता के चाचा को तिहाड़ शिफ्ट करने व उसके परिवार को 25 लाख रुपए देने का आदेश कर चुका है। उधर बीजेपी ने भी तत्काल प्रभाव से कुलदीप सिंह सेंगर को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है।