अमेरिकी M-4 कार्बाइन और स्टील बुलेट से लैस थे पुलवामा के हमलावर, आतंकी के भाई के बड़े खुलासे

पुलवामा में फरवरी 2019 में हुए आतंकी हमले को लेकर बड़े खुलासे सामने आ रहे हैं। पुलवामा हमले के मुख्य आरोपी आदिल डार के भाई समीर डार ने पूछताछ में कई अहम जानकारियां दी हैं।

Written by: February 3, 2020 5:49 pm

नई दिल्ली। पुलवामा में फरवरी 2019 में हुए आतंकी हमले को लेकर बड़े खुलासे सामने आ रहे हैं। पुलवामा हमले के मुख्य आरोपी आदिल डार के भाई समीर डार ने  पूछताछ में कई अहम जानकारियां दी हैं। उसने खुलासा किया है कि दिसंबर 2019 में भी उसने जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों को घाटी पहुंचाया था।

Pulwama Encounter

हालांकि समीर ने कहा कि पुलवामा छोड़ने के बाद आतंकवादियों के ठिकानों की उसे कोई जानकारी नहीं है पर उसने एक अहम बात यह बताई कि आतंकवादियों के पास सामान्य बख्तरबंद गाड़ियों को भेदने में सक्षम ‘स्टील के कारतूस’ मौजूद थे। उनके पास भारी मात्रा में गोला बारूद भी था।

adil ahmed pulwama

समीर को पुलिस ने उस समय पकड़ा जब वह सुरक्षा बलों पर गोलीबारी करने के बाद नगरोटा से भाग रहा था। अधिकारियों ने बताया कि गिरफ्तार आतंकवादी ने जैश आतंकवादियों के पास मौजूद हथियारों के बारे में भी जानकारी दी है जिससे संकेत मिलता है कि संगठन के पास एम-4 कार्बाइन और स्टील के कारतूस हैं।

Pulwama Encounter

14 फरवरी को समीर के रिश्ते के भाई आदिल ने विस्फोटकों से लदी कार के ज़रिए सीआरपीएफ के बस के नजदीक धमाका कर दिया था। इस धमाके में 40 जवान शहीद हो गए थे। जांच में चीन का लिंक भी सामने आया है। मालूम पड़ा कि सीमा पार चीनी तकनीक की मदद से स्टील के कारतूस बनाए गए थे। अहम बात यह भी है कि आतंकियों के पास मौजूद एम-4 कार्बाइन अमेरिकी हथियार है जिसका इस्तेमाल अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना करती है।