गांधी और गोडसे के भारत में से एक को चुनना है : राहुल

इंदिरा गांधी स्टेडियम में बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए राहुल ने मोदी को ‘डरपोक’ बताया और कहा कि सिर्फ कांग्रेस ही बेरोजगारी और कृषि संकट की दोहरी चुनौती से निपट सकती है।

Written by: March 12, 2019 8:23 am

नई दिल्ली। अगले महीने शुरू होनेवाले लोकसभा चुनाव को कांग्रेस की समावेशपूर्ण विचारधारा और नरेंद्र मोदी व आरएसएस की नफरत व डर फैलानेवाली विचारधारा के बीच लड़ाई बताते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि इस चुनाव में लोगों को महात्मा गांधी के भारत और उनके हत्यारे नाथूराम गोडसे के भारत में से एक को चुनने का मौका है। उन्होंने वादा किया कि कांग्रेस के सत्ता में आने पर देश के सभी गरीबों के लिए न्यूनतम आय गारंटी योजना लाई जाएगी।


यहां के इंदिरा गांधी स्टेडियम में बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए राहुल ने मोदी को ‘डरपोक’ बताया और कहा कि सिर्फ कांग्रेस ही बेरोजगारी और कृषि संकट की दोहरी चुनौती से निपट सकती है।

उन्होंने कहा, “महात्मा गांधी के भारत और उनके हत्यारे नाथूराम गोडसे के भारत में से एक को चुनना है। देश के लोगों को यह दिखाना है कि उन्हें कौन-सा भारत पसंद है। लड़ाई मोदी-आरएसएस के नफरत व डराने वाली विचारधारा और कांग्रेस के प्यार, समावेशिता की विचारधारा के बीच है।”


यह बताते हुए कि मोदी सरकार देश की दो बड़ी चुनौतियों- बरोजगारी और कृषि संकट के लिए जिम्मेदार है, उन्होंने कहा, “कांग्रेस सत्ता में आने पर सभी गरीबों के लिए न्यूनतम आय सुनिश्चित करेगी।”

योजना के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि देश की न्यूनतम आय तय की जाएगी, जो एक मानक की तरह काम करेगी और जो इससे निचले स्तर पर होगा, उसे न्यूनतम आय मुहैया कराने की गारंटी दी जाएगी।

उन्होंने कहा, “देश में कोई भी इंसान न्यूनतम आय स्तर से निचले पायदान पर नहीं रहेगा।”


राहुल ने कहा, “दुनिया में किसी भी देश ने इस योजना को नहीं आजमाया है, लेकिन हम इसे लागू करेंगे। हमने कर्नाटक, राजस्थान, मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ में किसान ऋणमाफी का वादा किया और सत्ता में आने के दो दिन बाद ही इसे पूरा किया। यह केवल कांग्रेस कर सकती है।”