राहुल गांधी ने आरोग्य सेतु एप को लेकर उठाए सवाल, केंद्रीय कानून मंत्री से मिला करारा जवाब

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शनिवार को कोरोना वायरस ट्रैकिंग एप आरोग्य सेतु को लेकर सवाल उठाए और इसे सरकार की सोची-समझी निगरानी प्रणाली करार दिया।

Avatar Written by: May 2, 2020 9:02 pm

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शनिवार को कोरोना वायरस ट्रैकिंग एप आरोग्य सेतु को लेकर सवाल उठाए और इसे सरकार की सोची-समझी निगरानी प्रणाली करार दिया। उन्‍होंने कहा कि इससे डेटा की सुरक्षा और निजता को लेकर चिंताएं पैदा हुई हैं।

इस बीच केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और आयुष्‍मान भारत के सीईओ के स्पेशल ड्यूटी ऑफिसर ने इसे झूठा करार देते हुए कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है। इसे लेकर जबरदस्‍ती पैनिक क्रिएट करने की कोशिश की जा रही है।

Rahul Gandhi

राहुल गांधी ने शनिवार को इस संबंध में ट्वीट कर कहा, ‘आरोग्य सेतु ऐप एक सोची समझी निगरानी प्रणाली है, जिसे एक प्राइवेट ऑपरेटर को आउटसोर्स किया गया है, इसमें किसी तरह की संस्थागत निरीक्षण नहीं है, यह डेटा सुरक्षा और निजता को लेकर चिंता बढ़ाने वाला है। प्रौद्योगिकी हमें सुरक्षित रखने में मदद कर सकती है, लेकिन लोगों को उनकी सहमति के बगैर ट्रैक करने के लिए भय का फायदा नहीं उठाया जाना चाहिए।’


इसपर केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इसे राहुल गांधी का एक नया झूठ बताया और लिखा कि रोज एक नया झूठ। इसके आगे वह जमकर राहुल पर बरसे और उन्होंने तकनीक के सही इस्तेमाल के फायदे को समझने की सलाह भी दे डाली।


राहुल गांधी के इसी ट्वीट पर आयुष्मान भारत के सीईओ के स्पेशल ड्यूटी ऑफिसर ने भी जमकर उन्हें लताड़ लगाई और लिखा कि…