भारत सरकार की तरफ से चीन को एक और झटका, चीनी कंपनी का 471 करोड़ रुपये का सिग्नलिंग का ठेका रद्द

भारत और चीन के सीमा विवाद के बीच मोदी सरकार लगातार चीन को आर्थिक झटके दे रही है। इसी कड़ी में अब शुक्रवार को रेलवे के सार्वजनिक उपक्रमों ने खराब प्रगति के कारण चीनी फर्म के 471 करोड़ रुपये के कॉन्ट्रैक्ट को रद्द कर दिया है।

Avatar Written by: July 18, 2020 3:26 pm

नई दिल्ली। भारत और चीन के सीमा विवाद के बीच मोदी सरकार लगातार चीन को आर्थिक झटके दे रही है। इसी कड़ी में अब शुक्रवार को रेलवे के सार्वजनिक उपक्रमों ने खराब प्रगति के कारण चीनी फर्म के सिग्नलिंग और दूरसंचार से संबंधित 471 करोड़ रुपये के कॉन्ट्रैक्ट को रद्द कर दिया है।

india china border conflict

इससे पहले गुरुवार को दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे प्रोजेक्ट से दो चीनी कंपनियों की बोली रद्द कर दी गई थी। यह ठेका करीब 800 करोड़ रुपये का था। जानकारी के मुताबिक इन कंपनियों को वहां के अधिकारियों ने लेटर ऑफ अवॉर्ड देने से इनकार कर दिया। अब यह ठेका दूसरे सबसे कम रेट पर बिड करने वाली फर्म को दिया जाएगा। यह ठेका दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे के दो खंड के लिए था।

chinese apps

भारत में 59 चीनी ऐप बैन

कुछ हफ्ते पहले केंद्र सरकार ने सुरक्षा और निजता का हवाला देते हुए लोकप्रिय चीनी ऐप टिकटॉक, शेयरइट और वीचैट समेत कुल 59 चीनी ऐप्स पर पाबंदी लगा दी थी। चीन के साथ तनाव के बीच इन ऐप पर रोक लगाने की मांग काफी पहले से की जाने लगी थी।

India-China-relations

देश में चीन विरोधी माहौल

आपको बता दें कि पिछले महीने भारत-चीन नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर हुई एक हिंसक झड़प में हमारे देश के 20 वीर सैनिक शहीद हो गए थे। इसके बाद से दोनों देशों के बीच तनाव काफी बढ़ गया था। चीन को आर्थिक झटका देने की कोशिश के तहत ही देश में चीनी माल के बहिष्कार का अ​भियान चल पड़ा और सरकार भी लगातार चीनी आयात पर अंकुश और चीनी कंपनियों को सरकारी ठेकों से बाहर करने के प्रयासों से चीन को झटका देने में लगी है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost