2030 तक भारतीय रेलवे में 50 लाख करोड़ रुपए के निवेश पर नजर: पीयूष गोयल

रेलमंत्री पीयूष गोयल ने शनिवार को कहा कि भारतीय रेल के कुछ खंडों को निवेश के वास्ते निजी क्षेत्र के लिए खोला जा सकता है। उन्होंने कहा कि निजी क्षेत्र लाइसेंस फीस के बदले में इन खंडों पर अपने रेलमार्ग का संचालन कर सकता है।

Avatar Written by: July 7, 2019 10:02 am

नई दिल्ली। देश की रेल प्रणाली को दुनिया में सर्वश्रेष्ठ बनाने के लिए सरकार की नजर 2030 तक रेलवे में 50 लाख करोड़ रुपये के निवेश पर है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शनिवार को यह बात कही। गोयल ने कहा कि पिछले 65 साल में पर्याप्त निवेश नहीं किए जाने से देश में रेलवे के बुनियादी ढांचे में बमुश्किल 30 प्रतिशत की ही वृद्धि हुई है।piyush goyalशुक्रवार को पेश आम बजट 2019-20 पर अपनी टिप्पणी में गोयल ने कहा कि सरकार की 2030 तक रेलवे में 50 लाख करोड़ रुपये के निवेश की परिकल्पना है, ताकि इसे दुनिया की सर्वश्रेष्ठ रेलवे प्रणाली बनाया जा सके। इसमें यात्रियों की सुरक्षा, नेटवर्क का विस्तार और मालभाड़ा में हिस्सेदारी बढ़ाना शामिल है।

उन्होंने कहा कि पिछले 65 साल में रेलवे में निवेश कम रहा जिसके चलते इसके बुनियादी ढांचे में मात्र 30 प्रतिशत की ही वृद्धि हुई जबकि इस पर माल और यात्रियों के बोझ में 1500 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इसके वजह से यात्रियों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। वह यहां भाजपा के सदस्यता अभियान की शुरूआत पर आयोजित कार्यक्रम से अलग संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे।

Piyush Goyal BJP
रेलमंत्री पीयूष गोयल ने शनिवार को कहा कि भारतीय रेल के कुछ खंडों को निवेश के वास्ते निजी क्षेत्र के लिए खोला जा सकता है। उन्होंने कहा कि निजी क्षेत्र लाइसेंस फीस के बदले में इन खंडों पर अपने रेलमार्ग का संचालन कर सकता है। उन्होंने कहा कि निजी क्षेत्र से निवेश आकर्षित करने को लेकर सरकार खुले दिमाग से विचार कर रही है, लेकिन भारतीय रेल का निजीकरण नहीं किया जाएगा।piyush goyal

गोयल ने कहा, “अलग-अगल मॉडल है, जिनका हम अनुकरण कर सकते हैं। हम भारतीय रेल का विकास चाहते हैं। कुछ क्षेत्र हो सकते हैं जहां निजी क्षेत्र अपनी लाइन बिछा सकता है। हमें कोई समस्या नहीं होगी। वे हमसे लाइसेंस ले सकते हैं। रेलवे अपना राजस्व बढ़ाने में सक्षम होगी। अगर इसका राजस्व बढ़ेगा तो यह अपने यात्रियों को बेहतर सुविधा प्रदान करने में समर्थ होगी।”

Support Newsroompost
Support Newsroompost