CM बनने को लेकर पायलट की बढ़ी बेसब्री, गहलोत बोले- मैं हूं बॉस

सचिन पायलट कह रहे हैं कि जनता ने अशोक गहलोत के नाम पर वोट नहीं दिया और ऐसा ही आरोप अशोक गहलोत भी सचिन पायलट पर लगा रहे हैं।

Written by: July 11, 2019 9:16 pm

नई दिल्ली। राजस्थान कांग्रेस सरकार की खींचतान एक बार फिर खुलकर सामने आ गई है। अब तक इशारों में ही आरोप लगा रहे प्रदेश के सीएम और डिप्टी सीएम अब एक दूसरे के खिलाफ खुलकर बोलने लगे हैं। सचिन पायलट कह रहे हैं कि जनता ने अशोक गहलोत के नाम पर वोट नहीं दिया और ऐसा ही आरोप अशोक गहलोत भी सचिन पायलट पर लगा रहे हैं।

बजट पेश करने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री बनने के 8 महीने बाद आखिरकार उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट को साफ कर दिया कि वह राजस्थान का मुख्यमंत्री बनने का मंसूबा ना पालें।

Ashok Gehlot and Sachin Pilot

अशोक गहलोत ने कहा कि विधानसभा चुनाव में लोगों ने उनके नाम पर वोट दिए हैं। उनको मुख्यमंत्री बनाने के लिए वोट दिए हैं। इसलिए कांग्रेस पार्टी ने उनको मुख्यमंत्री बनाया है, किसी और के नाम पर वोट नहीं मिले हैं, जो मुख्यमंत्री बनने की दौड़ में भी नहीं थे वह भी अपना नाम आगे ला रहे हैं।

दरअसल कहा जा रहा है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के मुख्यमंत्री बनने के छुपे हुए अभियान से परेशान हैं और बजट पेश करने के बाद इस मुद्दे पर आर-पार करने के मूड में हैं। गहलोत ने इशारों-इशारों में आलाकमान को भी साफ कर दिया राजस्थान का बॉस मैं हूं यहां दो नेता नहीं चलेंगे।

तो वहीं दूसरी ओर पायलट को लगता है कि 5 साल तक हमने मेहनत की और जब मलाई खाने का वक्त आया तो गहलोत टपक पड़े। पायलट को लगता था कि लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी उनको मौका देंगे मगर कोई कुछ नहीं बोल रहा है तो पायलट की भी बेसब्री बढ़नी लाजमी है। बिना पत्रकारों के सवाल पूछे ही पायलट ने कहा कि राजस्थान में सरकार कार्यकर्ताओं की मेहनत से बनी है और राहुल गांधी के नाम पर बनी है न कि किसी और के नाम पर बनी है।