राजस्थानः थाना प्रभारी विष्णु दत्त ने की आत्महत्या, लिखे थे दो सुसाइड नोट, सियासत तेज

राजस्थान के चुरू जिले में एक थाना प्रभारी (एसएचओ) ने अपने सरकारी क्वार्टर में कथित तौर पर आत्महत्या कर ली है।

Written by: May 24, 2020 12:28 pm

नई दिल्ली। राजस्थान के चुरू जिले में एक थाना प्रभारी (एसएचओ) ने अपने सरकारी क्वार्टर में कथित तौर पर आत्महत्या कर ली है। पुलिस के अनुसार राजगढ़ के एसएचओ विष्णु दत्त का शव शनिवार को उनके क्वार्टर में फंदे से लटका हुआ पाया गया। मामले की जांच सीआईडी (अपराध शाखा) के वरिष्ठ अधिकारियों को सौंपी गयी है। विष्णु दत्त को राजस्थान पुलिस के लोग सिंघम के तौर पर मानते थे। उनके मौत की जांच सीबीआई को सौंपने को लेकर एक ज्ञापन चुरू जिले के जिला अधिकारी को भी सौंपा गया था।

Vishnu Dutt Sharma

पुलिस के अनुसार राजगढ़ के एसएचओ विष्णु दत्त का शव शनिवार को उनके आवास पर फांसी के फंदे से लटकता हुआ मिला था। राजस्थान के पुलिस प्रवक्ता के अनुसार पुलिस महानिदेशक भूपेंद्र सिंह ने थानाधिकारी विष्णुदत्त आत्महत्या प्रकरण की जांच सीआईडी (क्राइम ब्रांच) के वरिष्ठ अधिकारियों को सौंपी है।

Vishnu Dutt Sharma Sucide note

वहीं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने इस एसएचओ विष्णुदत्त के आसमयिक निधन पर शोक व्यक्त किया है। गहलोत ने ट्वीट किया है,’राजस्थान पुलिस के निरीक्षक विष्णुदत्त विश्नोई की दुखद मृत्यु पर हार्दिक संवेदना व्यक्त करता हूँ। उनकी राजस्थान पुलिस में सेवाएं उल्लेखनीय रही हैं। उनकी सेवा व कर्तव्यनिष्ठा को सदैव याद रखा जाएगा।’

Vishnu Dutt Sharma

वहीं पायलट ने लिखा है,’राजस्थान पुलिस के कर्तव्यनिष्ठ वृत्त निरीक्षक विष्णुदत्त बिश्नोई द्वारा आत्महत्या करना बेहद दुःखद है। मैं उनके निधन पर संवेदना व्यक्त करता हूँ और उनके परिवारजनों को ढांढस बंधाता हूँ।’ इसके साथ ही पायलट ने लिखा है,’ मुझे विश्वास है की ऐसे संवेदनशील मुद्दे पर उचित जाँच कराई जाएगी।’

ashok gehlot

वहीं मुख्य विपक्षी दल भाजपा ने मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉक्टर सतीश पूनियां ने बिश्नोई द्वारा आत्महत्या पर गहरा शोक व्यक्त किया है। इसके साथ ही उन्होंने घटना की वस्तुस्थिति जांचने के लिए उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ व सांसद राहुल कस्वां को राजगढ़ भेजा है।

Vishnu Dutt Sharma

डॉक्टर पूनियां ने कहा कि थानाधिकारी की आत्महत्या एक गम्भीर घटना है और यह हमारी व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह खड़ा कर रही है। सरकार को इसकी जांच करवा कर तथ्यों का पता लगाना चाहिए कि ऐसे क्या कारण रहे की एक थानाधिकारी को आत्महत्या करनी पड़ी।

विष्णु दत्त ने आत्महत्या करने से पहले लिखे थे दो सुसाइड नोट

आत्महत्या से पहले विष्णुदत्त विश्नोई ने 2 सुसाइड नोट लिखे थे। एक सुसाइड नोट माता-पिता और दूसरा एसपी के नाम लिखा था। सुसाइड नोट में एसएचओ ने किसी पर भी आरोप नहीं लगाया है।

एसपी को संबोधित करते हुए विष्णुदत्त विश्नोई ने लिखा कि माफ करना, चारों ओर इतना प्रेशर है कि मैं तनाव नहीं झेल पाया। मैंने अंतिम सांस तक राजस्थान पुलिस को सर्वोत्तम देने का प्रयास किया। मैं बुजदिल नहीं था। बस अपना तनाव नहीं झेल पाया। माता-पिता से भी माफी मांगते हुए विष्णुदत्त ने खुद को ही गुनाहगार बताया है।

आत्महत्या की घटना के बाद में एक सोशल एक्टिविस्ट ने एक दिन पहले व्हाट्सएप पर हुई चैट वायरल की, जिसमें लिखा था कि विष्णु दत्त शर्मा दबाव में है और वह स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेना चाहते हैं। सोशल एक्टिविस्ट का आरोप है कि विष्णुदत्त शर्मा ने दबाव में आकर आत्महत्या की है, जिसकी जांच की जानी चाहिए।