राजस्थान में जन्मदिन की पार्टी के जश्न में शामिल एक युवक की हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार

सोमवार रात राजस्थान के झालावाड़ के पिडावा में इमरान, खालिद, मजला और अनवर नाम के युवकों ने हंगामा कर दिया। जिले के एक व्यापारी ऋषिराज अग्रवाल की गोली मारकर हत्या कर दी। ऋषिराज अग्रवाल बजरंग दल के कार्यकर्ता बताए जा रहे हैं

Avatar Written by: August 8, 2019 5:49 pm

नई दिल्ली। अनुच्छेद 370 में बदलाव को लेकर पूरे देश में खुशी का माहौल है लेकिन इस बीच राजस्थान में बड़ा हंगामा हो गया। हांलाकि पुलिस हमेशा की तरह सब कुछ काबू में बता रही है। हांलाकि माहौल धीरे-धीरे खराब होता जा रहा है। बाजार बंद हो रहे हैं और लोगों का विरोध बढ़ता जा रहा है। जिस जिले में यह घटना हुई है वह पूर्व सीएम राजे का गृह जिला है। यहां एक युवक की हत्या कर दी गई। जिसकी हत्या की गई वह जिले में बजरंग दल इकाई का पदाधिकारी बताया जा रहा है। हत्या के आरोपियों में सो दो की गिरफ्तारी हो चुकी है।

दरअसल सोमवार रात राजस्थान के झालावाड़ के पिडावा में इमरान, खालिद, मजला और अनवर नाम के युवकों ने हंगामा कर दिया। जिले के एक व्यापारी ऋषिराज अग्रवाल की गोली मारकर हत्या कर दी। ऋषिराज अग्रवाल बजरंग दल के कार्यकर्ता बताए जा रहे हैं। ऋषि और उसके साथियों पर इमरान और उसके साथियों ने गोलियां चलाई। इसके बाद एक गोली रिषी के सीने में लगी और अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गई। फायरिंग के बाद सभी वहां से फरार हो गए। पुलिस का कहना है कि इमरान आदतन अपराधी है। उसने कुछ समय पहले अपने चाचा की हत्या कर दी थी। सात महीने पहले ही वह जेल से बाहर आया था।murder

इस घटनाक्रम को लेकर पुलिस ने बताया कि पिड़ावा निवासी विजय शर्मा, बबलू लुहार, संदीप सोलंकी तीनों का सोमवार को जन्मदिन था। पिड़ावा-सोयत मार्ग पर एक निजी रिसोर्ट के सामने ही मार्ग पर तीनों दोस्त अपने 10-15 साथियों के साथ जन्मदिन मना रहे थे। इस दौरान पार्टी में गाना बजाना और आतिशबाजी चल रहा था। यह बात सड़क से 200 मीटर दूर रहने वाले मीरपुर निवासी इमरान व उसके साथियों को पसंद नहीं आई। इमरान व एक अन्य साथी आए और पार्टी बंद करने की बात करने लगे। इस दौरान दोनों पक्षों क बीच कहासुनी हो गई। उस समय तो दोनों चले गए, लेकिन बाद में इमरान अपने कुछ साथियों को लेकर फायरिंग करता हुआ आया। अन्य लोग तो फायरिंग होने से इधर-उधर छिप गए, लेकिन पिड़ावा निवासी व्यापारी ऋषि अग्रवाल उसके सामने आ गया और इमरान ने उसके सीने पर बंदूक रखकर ट्रिगर दबा दिया। डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।

उधर इस घटना के बाद प्रत्यक्षदर्शियों और रिषी के साथियों का कहना है कि जन्मदिन मनाने के साथ ही हम लोग कश्मीर में हुए बड़े बदलावा को लेकर खुशियां मना रहे थे। इसी कारण आतिशबाजी भी कर रहे थे। लेकिन इमरान और कुछ अन्य को यह अच्छा नहीं लगा। वे आकर धमकाने लगे और बाद में गोलियां चला दी। उधर इस घटना के बाद मंगलवार को बाजार बंद रहे। स्कूल बंद रहे और संगठन से जुड़े पदाधिकारियों ने हत्यारों को जल्द पकडने की मांग कर थाने का घेराव किया।