जहां तोड़ा गया था, वहीं बनेगा रविदास मंदिर, केंद्र सरकार ने दे दी सहमति

केंद्र सरकार गुरु रविदास के भक्तों को मंदिर के लिए उसका स्थान पर देने पर सहमत  हो गई है। यह वही जगह है, जहां रविदास मंदिर को दक्षिण दिल्ली में कुछ महीने पहले ध्वस्त कर दिया गया था।

Written by: October 18, 2019 3:15 pm

नई दिल्ली। केंद्र सरकार गुरु रविदास के भक्तों को मंदिर के लिए उसका स्थान पर देने पर सहमत  हो गई है। यह वही जगह है, जहां रविदास मंदिर को दक्षिण दिल्ली में कुछ महीने पहले ध्वस्त कर दिया गया था। सरकार ने इस बाबत सुप्रीम कोर्ट को जानकारी दे दी है।

ravidas

सरकार ने  सुप्रीम कोर्ट की पीठ को बताया कि यह निर्णय शांति और सद्भाव सुनिश्चित करने के लिए लिया गया है। अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल ने पीठ को बताया कि इस साइट के 200 वर्ग मीटर क्षेत्र को मंदिर निर्माण के लिए सौंपा जा सकता है। इसे भक्तों की एक समिति के सुपुर्द किया जा सकता है। कोर्ट ने केंद्र के प्रस्ताव को रिकॉर्ड में ले लिया और सोमवार को आदेश पारित करने के लिए मामले को सूचीबद्ध कर दिया।

ravidas 1

अटॉर्नी जनरल ने पीठ को बताया कि उन्होंने भक्तों और सरकारी अधिकारियों सहित सभी संबंधित पक्षों के साथ विचार विमर्श किया है। केंद्र सरकार ने  भक्तों की संवेदनशीलता और विश्वास को देखते हुए भूमि देने के लिए सहमति व्यक्त की। कोर्ट इससे जुड़ी आपत्तियों को सुनने के बाद आदेश पारित करेगा।

ravidas 2

डीडीए ने पिछले 10 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सदियों पुराने रविदास मंदिर को ध्वस्त कर दिया था। यह मंदिर दिल्ली के तुगलकाबाद इलाके में था।