आर्मी जवान औरंगजेब की जिस आंतकी ने की थी हत्या, सुरक्षा बलों ने किया उसे ढेर

तीनों आतंकवादियों का संबंध प्रतिबंधित संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन से है और वे सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर हमले और असैन्य लोगों पर अत्याचार समेत आतंकवाद से जुड़े कई मामलों में संलिप्तता को लेकर वांछित थे।

Written by: May 18, 2019 6:24 pm

जम्मू-कश्मीर। पुलवामा जिले में शनिवार को सुरक्षाबलों ने भारतीय आर्मी जवान औरंगजेब की हत्या करने वाले आतंकी को मौत के घाट उतार दिया। इसको लेकर पुलवामा जिले में अंवतीपुरा के पंजगाम क्षेत्र में शनिवार को सुबह ही घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू कर दिया था।

Awantipora Encounter

इस तलाशी अभियान में आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी शुरू कर दी। इस गोलीबारी के जवाब में सुरक्षाबलों ने भी मुहंतोड़ जवाब दिया, जिसमें तीन आतंकी ढेर हो गए। पुलिस के प्रवक्ता बताया उनके शव बरामद कर लिए गए हैं और मौके से हथियार जब्त किए गए हैं। शिनाख्त में पता चला है कि मरने वाले आतंकी अंवतीपोरा स्थित पंजगाम के शौकत डार, सोपोर में वदूरा पायीन के इरफान वार और पुलवामा में तहाब के मुजफ्फर शेख हैं।

Encounter

बताया गया है कि तीनों आतंकवादियों का संबंध प्रतिबंधित संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन से है और वे सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर हमले और असैन्य लोगों पर अत्याचार समेत आतंकवाद से जुड़े कई मामलों में संलिप्तता को लेकर वांछित थे। उन्होंने बताया कि पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार, डार इलाके में कई आतंकी हमलों की योजना बनाने और उन्हें अंजाम देने में शामिल रहा।

Army Jawan Rifleman Aurangzeb

आर्मी जवान औरंगजेब की हत्या की थी

पुलिस प्रवक्ता के मुताबिक, डार 2018 में सेना के जवान औरंगजेब की हत्या और पुलिस कर्मी आकिब अहमद वागे का कत्ल करने वाले समूह में शामिल था। उसके खिलाफ आतंकवाद के कई मामले दर्ज थे। आतंकवादियों ने पिछले साल जून में ईद मनाने के लिए पुंछ स्थित अपने घर जा रहे औरंगजेब का पुलवामा में अपहरण कर लिया था और फिर उनकी हत्या कर दी थी।