नागरिकता संशोधन अधिनियम के विरोध में RJD का 21 दिसंबर को बिहार बंद

नागरिकता संशोधन अधिनियम का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस बीच राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने इसके विरोध में 21 दिसंबर को बिहार बंद का आह्वान किया है। बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने 21 दिसंबर को बिहार बंद के लिए लोगों से समर्थन देने की अपील की है। इस बाबत उन्होंने शुक्रवार रात ट्वीट किया।

Written by: December 14, 2019 12:40 pm

पटना। नागरिकता संशोधन अधिनियम का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस बीच राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने इसके विरोध में 21 दिसंबर को बिहार बंद का आह्वान किया है। बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने 21 दिसंबर को बिहार बंद के लिए लोगों से समर्थन देने की अपील की है। इस बाबत उन्होंने शुक्रवार रात ट्वीट किया।

tejaswi yadav

पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी ने ट्वीट किया, “संविधान की धज्जियां उड़ाने वाले नागरिकता संशोधन अधिनियम जैसे काले कानून के खिलाफ राष्ट्रीय जनता दल 21 दिसंबर को ‘बिहार बंद’ करेगा। हम सभी संविधान प्रेमी, न्यायप्रिय, धर्मनिरपेक्ष दलों, गैर-राजनीतिक संगठनों और आम जनमानस से अपील करते हैं कि बढ़-चढ़कर इसे सफल बनाने में सहयोग दें।”

बंद की तारीख पहले 22 दिसंबर निर्धारित की गई थी, लेकिन बाद में इसे एक दिन पहले कर दिया गया ताकि अगले रविवार को होने वाली पुलिस भर्ती परीक्षा प्रभावित न हो। 30 वर्षीय तेजस्वी ने पहले ट्वीट किया, ‘संविधान की धज्जियां उड़ाने वाले नागरिकता संशोधन विधेयक जैसे काले कानून के खिलाफ राष्ट्रीय जनता दल 22 दिसंबर,रविवार को ‘बिहार बंद’ करेगा।

उल्लेखनीय है कि सीएए के विरोध में विपक्षी दलों के महागठबंधन में शामिल राजद के नेता और कार्यकर्ता एकदिवसीय धरने पर भी बैठे थे, जबकि कांग्रेस ने मार्च निकाला था। शुक्रवार को राज्य के कई जिलों में मुस्लिम संगठनों द्वारा भी इस विधेयक के विरोध में जुलूस निकाला गया था।