सिंधिया के तेवर तल्ख, अवैध खनन मामले में अपनी ही सरकार को लिया निशाने पर

कांग्रेस की मध्य प्रदेश इकाई के अध्यक्ष को लेकर पार्टी नेताओं में चल रही खींचतान के बीच ग्वालियर पहुंचे पूर्व केंद्रीय मंत्री व महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया ने तल्ख तेवर दिखाए हैं।

Written by: September 4, 2019 9:32 am

ग्वालियर।  कांग्रेस की मध्य प्रदेश इकाई के अध्यक्ष को लेकर पार्टी नेताओं में चल रही खींचतान के बीच ग्वालियर पहुंचे पूर्व केंद्रीय मंत्री व महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया ने तल्ख तेवर दिखाए हैं। उन्होंने रेत के अवैध खनन पर अपनी ही सरकार को घेरा और इस कारोबार में लगे लोगों पर सख्त कार्रवाई की मांग की।

jyotiraditya scindhia

सिंधिया मंगलवार को शताब्दी एक्सप्रेस से दो दिवसीय प्रवास पर ग्वालियर पहुंचे। स्टेशन पर कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया। इस मौके पर सिंधिया ने रेत के अवैध खनन के सवाल पर कहा, “अवैध खनन से बेहत दुखी हूं। इसे रोका जाना चाहिए, क्योंकि यह हमारा चुनावी मुद्दा था।”

Jyotiraditya scindia

सिंधिया ने आगे कहा, “विधानसभा चुनाव में पूववर्ती सरकार के खिलाफ अवैध खनन का खुलकर विरोध किया था। वर्तमान सरकार के दौरान अवैध खनन होना दुर्भाग्यपूर्ण है, इसे रोका जाना चाहिए, और देाषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।” सिंधिया ने सरकार को यहां तक चेतावनी दे डाली कि अगर अवैध खनन का कारोबार नहीं रुका तो वह आगे आने को मजबूर होंगे।

राज्य में कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर चल रही चर्चा में एक नाम सिंधिया का भी है। इस मौके पर संवाददाताओं ने नए प्रदेशाध्यक्ष को लेकर सवाल पूछा तो सिंधिया ने कहा, “पार्टी हाईकमान जो निर्णय करेगा, वह सर्वमान्य होगा।”

jyotiraditya scindia

राज्य में सिंधिया समर्थक लगातार पार्टी का नया प्रदेशाध्यक्ष सिंधिया को बनाए जाने की मांग कर रहे हैं। ग्वालियर में जहां सिंधिया को प्रदेशाध्यक्ष बनाने की मांग के पोस्टर होर्डिंग लगे हुए हैं, वहीं कई स्थानों पर धरना हो रहा है। श्योपुर के एक नेता ने तो सिंधिया को अध्यक्ष न बनाने पर भोपाल में कांग्रेस दफ्तर के सामने आत्मदाह तक की चेतावनी दे दी है।

ज्ञात हो कि राज्य में कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद से नए अध्यक्ष को लेकर रस्साकशी चल रही है। कमलनाथ कई बार पद से त्यागपत्र देने की पेशकश कर चुके हैं। उसके बाद से सिंधिया, दिग्विजय सिंह, अजय सिंह, अरुण यादव, उमंग सिंघार, ओमकार सिंह मरकाम, बाला बच्चन, सज्जन वर्मा, मीनाक्षी नटराजन, शोभा ओझा के नाम नए अध्यक्ष के लिए चर्चा में हैं।

jyotiraditya scindia

सिंधिया ने मंगलवार को कई कार्यक्रमों में हिस्सा लिया। इस दौरान उनके आक्रामक तेवर बने रहे। जनता के बीच उन्होंने दोहराया कि विकास का उनके पास एक खाका है और वह उस पर काम करना चाहते हैं।