Oxford की इस कोरोना वैक्सीन का भारत में दूसरे और तीसरे चरण का परीक्षण शुरू, 17 स्थान किए गए चयनित

यह कोरोना वैक्सीन Oxford university के द्वारा तैयार की जा रही है जिसके साथ सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of india) ने भी सहयोग किया है।

Avatar Written by: August 19, 2020 10:07 pm

नई दिल्ली। भारतीय फार्मास्यूटिकल कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccince) के दूसरे और तीसरे चरण के ट्रायल की शुरुआत कर दी है। ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) से अनुमति मिलने के बाद कंपनी ने वैक्सीन (Vaccine) का ट्रायल शुरू कर दिया है। यह ट्रायल 1,600 वॉलंटियर्स पर किया जाएगा, जिनकी उम्र 18 साल या उससे ज्यादा है। यह कोरोना वैक्सीन Oxford university के द्वारा तैयार की जा रही है जिसके साथ सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of india) ने भी सहयोग किया है। ऐसे में इस वैक्सीन को भारत में परीक्षण की मंजूरी दी गई है।

corona vaccine

आपको बता दें कि इससे पहले इस वैक्सीन की कीमत को लेकर भी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की तरफ से कहा गया था कि इसे एक हजार रुपए की कम कीमत तक में बाजार में उपलब्ध कराया जाएगा ताकि सामान्य लोगों तक भी इसकी सामान्य पहुंच हो सके।

corona vaccine

Oxford  की इस वैक्सीन को परीक्षण के लिए देश के 17 स्थानों पर ट्रायल की व्यवस्था की गई है। इनमें आंध्र मेडिकल कॉलेज (विशाखापत्तनम), जेएसएस एकेडमी ऑफ हायर एजुकेशन एंड रिसर्च, (मैसूर), सेठ जीएस मेडिकल कॉलेज और केईएम हॉस्पिटल (मुंबई), केईएम हॉस्पिटल रिसर्च सेंटर (वडू), बीजे मेडिकल कॉलेज और ससून जनरल हॉस्पिटल (पुणे), अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (जोधपुर), राजेंद्र मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, (पटना), इंस्टीट्यूट ऑफ कम्युनिटी मेडिसिन (मद्रास), पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (PGIMER), भारती विद्यापीठ डीम्ड विश्वविद्यालय मेडिकल कॉलेज और अस्पताल (पुणे), जहांगीर अस्पताल (पुणे), एम्स (दिल्ली), आईसीएमआर- क्षेत्रीय चिकित्सा अनुसंधान केंद्र (गोरखपुर), टीएन मेडिकल कॉलेज और बीवाईएल नायर अस्पताल (मुंबई), महात्मा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (सेवाग्राम) और गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज (नागपुर) शामिल हैं।

corona vaccine trial

ट्रायल में शामिल होने वाले कुल 1,600 योग्य प्रतिभागियों में से 400 प्रतिभागी इम्युनोजेनेसिटी कॉहोर्ट का हिस्सा होंगे और उन पर 3:1 अनुपात में COVISHIELD या ऑक्सफोर्ड / AZ-ChAdOx1 nCoV-19 का ट्रायल किया जाएगा।

Oxford University Corona Vaccine

बता दें कि इसे लेकर मंगलवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) द्वारा एक प्रेस कांफ्रेंस की गई थी। इसमें स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण, नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल और आईसीएमआर के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव शामिल हुए थे।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त को लालकिले से देश में तीन कोरोना वैक्सीन के परीक्षण का जिक्र किया। उन्होंने बताया था कि इन सभी वैक्सीन के ट्रायल का अलग-अलग चरणों में हो रहा है। देश में फिलहाल तीन वैक्सीन- भारत बायोटेक-ICMR की कोवाक्सिन(Covaxin), जायडस कैडिला की जाइकोव-डी(Zykov-D) और सीरम इंडिया द्वारा ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोविशील्‍ड(Covishield) का ट्रायल विभिन्न चरणों में चल रहा है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost