सुप्रीम कोर्ट ने मोदी सरकार को लेकर अब सीबीआई केस में सुनाया दूसरा अहम फैसला

Written by: December 14, 2018 5:57 pm

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को सीबीआई के विशेष निदेशक पद के लिए राकेश अस्थाना की नियुक्ति को चुनौती देने वाली याचिका खारिज कर दी। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले को एक ही दिन में केंद्र सरकार के लिए दूसरी बड़ी राहत के तौर पर देखा जा रहा है। बता दें कि इससे पहले शुक्रवार को ही सुप्रीम कोर्ट ने राफेल मामले की सुनवाई करते हुए अपना फैसला सुनाया था। याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए सीजेआई रंजन गोगोई की पीठ ने राफेल सौदे की प्रक्रिया में कोई भी गड़बड़ी ना होने की बात कही है। साथ ही मामले की एसआईटी जांच से भी इनकार कर दिया था।

Rakesh Asthana

एनजीओ ने लगाई थी अस्थाना की नियुक्ति पर याचिका

दरअसल, वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण की कॉमन कॉज नाम की एनजीओ की ओर से सीबीआई के विशेष निदेशक पद के लिए राकेश अस्थाना की नियुक्ति को चुनौती देते हुए सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका लगाई गई थी। सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका को शुक्रवार को खारिज कर दिया।delhi highcourt

दिल्ली हाईकोर्ट में भी चल रहा है केस

बता दें कि CBI Vs CBI विवाद को लेकर छुट्टी पर भेजे गए CBI स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना की याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट में जवाब दाखिल कर सीबीआई ने कहा था कि जांच शुरुआती स्तर है, FIR रद्द करने की मांग वाली अस्थाना की याचिका खारिज होनी चाहिए। दरअसल, राकेश अस्थाना ने अपने ऊपर दर्ज FIR को चुनौती दी है। अस्थाना पर घूस लेने के आरोप में FIR दर्ज किया गया था।

rakesh asthana

छुट्टी पर भेजे गए थे अस्थाना

दरअसल, घूसकांड के बाद सीवीसी की सिफारिश पर केंद्र सरकार ने आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना को छुट्टी पर भेज दिया था। इसके अलावा इस घूसकांड में राकेश अस्थाना पर FIR दर्ज की गई थी, जिसके खिलाफ वो कोर्ट पहुंचे थे। कोर्ट ने इस मामले में यथास्थिति बनाएर खने के निर्देश दिए थे। दिल्ली हाईकोर्ट ने इस मामले में सीबीआई से भी जवाब तलब किया था।

ये है पूरा मामला

सीबीआई ने राकेश अस्थाना (स्पेशल डायरेक्टर) और कई अन्य के खिलाफ कथित रूप से मीट कारोबारी मोइन कुरैशी की जांच से जुड़े सतीश साना नाम के व्यक्ति के मामले को रफा-दफा करने के लिए घूस लेने के आरोप में FIR दर्ज की थी। इसके एक दिन बाद डीएसपी देवेंद्र कुमार को गिरफ्तार किया गया। इस गिरफ्तारी के बाद बीते मंगलवार को सीबीआई ने अस्थाना पर उगाही और फर्जीवाड़े का मामला भी दर्ज किया।

सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के बीच छिड़ी इस जंग के बीच, केंद्र ने सतर्कता आयोग की सिफारिश पर दोनों अधिकारियों को छु्ट्टी पर भेज दिया था और जॉइंट डायरेक्टर नागेश्वर राव को सीबीआई का अंतरिम निदेशक बना दिया गया। चार्ज लेने के साथ ही नागेश्वर राव ने मामले से जुड़े 13 अन्य अधिकारियों का ट्रांसफर कर दिया था।