बेटे को सीएम बनवाने के लिए एनसीपी-कांग्रेस के संपर्क में उद्धव, बीजेपी पर बनाया दबाव

शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे अपने बेटे आदित्य ठाकरे को सीएम बनवाने के लिए जी जान से जुट गए हैं। वे एनसीपी और कांग्रेस के संपर्क में हैं। शिवसेना लगातार इस बात के संकेत दे रही है कि वह इन दोनों ही पार्टियों का साथ लेकर महाराष्ट्र में सरकार बना सकती है।

Avatar Written by: October 26, 2019 12:36 pm

नई दिल्ली। शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे अपने बेटे आदित्य ठाकरे को सीएम बनवाने के लिए जी जान से जुट गए हैं। वे एनसीपी और कांग्रेस के संपर्क में हैं। शिवसेना लगातार इस बात के संकेत दे रही है कि वह इन दोनों ही पार्टियों का साथ लेकर महाराष्ट्र में सरकार बना सकती है।

शिवसेना की यहरणनीति बीजेपी पर दबाव बनाने के लिए है ताकि बीजेपी 50-50 के फार्मूले पर सहमत हो जाए। शिवसेना महाराष्ट्र में दोनों ही पार्टियों के लिए ढाई ढाई साल का कार्यकाल चाहती है। मगर बीजेपी इसके लिए तैयार नहीं है। उसके बाद महाराष्ट्र में 56 सीटें हैं, एनसीपी के पास 54 सीटें हैं जबकि कांग्रेस के पास 43 सीट है। यह सब मिलाकर बहुमत का आंकड़ा पार हो जाता है।

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय के ज़रिए एक बार फिर भाजपा को आड़े हाथ लिया है। शिवसेना ने हरियाणा में 75 के पार और महाराष्ट्र में 220 पार के नारों की खिंचाई की है। उधर कांग्रेस पार्टी की तारीफ करते हुए सामना में लिखा गया है कि कांग्रेस का प्रदर्शन अच्छा नहीं होगा यह अनुमान झूठा साबित हुआ। कांग्रेस वहां 31 के पार पहुंच गई है और भाजपा का घोड़ा 40 पर अटक गया। वहीं दूसरी तरफ महाराष्ट्र में भी कांग्रेस नेतृत्वहीन थी इसके बावजूद 45 सीटें लेकर अपने अस्तित्व को और मजबूत किया है।

इतना ही नहीं बीजेपी पर दबाव बनाने के लिए शिवसेना ने राहुल गांधी की तारीफ करना भी शुरू कर दी है। राहुल गांधी की तारीफ करते हुए संपादकीय में लिखा गया है कि राहुल गांधी ने महाराष्ट्र में चुनाव प्रचार में कुछ खास रुचि नहीं दिखाई जबकि हरियाणा में अच्छा प्रचार किया जिसका नतीजा यश के तौर पर दिखाई दिया