उन्नाव रेप केस: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- लखनऊ में ही हो पीड़िता का इलाज

अब सुप्रीम कोर्ट ने फैसला लिया है कि, पीड़िता का इलाज लखनऊ में ही होगा और साथ ही पीड़िता के चाचा को दिल्ली की तिहाड़ जेल में शिफ्ट करने का आदेश दिया है। 

Avatar Written by: August 2, 2019 12:00 pm

नई दिल्ली। गुरुवार को उन्नाव रेप पीड़िता को लेकर सुप्रीम कोर्ट में लगातार सुनवाई हुई और कोर्ट ने अपने फैसले में कहा था कि, उन्नाव रेप केस से जुड़े सारे मामले को दिल्ली शिफ्ट किया जाए। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने ये भी कहा था कि, पीड़िता की स्थिति को देखते हुए उसे दिल्ली के एम्स में भी भर्ती कराया जा सकता है। अब सुप्रीम कोर्ट ने फैसला लिया है कि, पीड़िता का इलाज लखनऊ में ही होगा और साथ ही पीड़िता के चाचा को दिल्ली की तिहाड़ जेल में शिफ्ट करने का आदेश दिया है।

Unnao accident

रेप पीड़िता के वकीलों की तरफ से अदालत को जानकारी दी गई है कि पीड़िता का परिवार लखनऊ में ही इलाज कराना चाहता है, ऐसे में वह नहीं चाहते हैं कि पीड़िता को दिल्ली शिफ्ट किया जाए। बता दें कि गुरुवार को अदालत ने कहा था कि अगर पीड़िता का परिवार चाहे तो उनका इलाज दिल्ली में किया जा सकता है।

Unnao protest

सुप्रीम कोर्ट को पीड़िता की तबीयत की जानकारी भी दी गई है, अदालत को बताया गया है कि पीड़िता अभी लखनऊ के अस्पताल में भर्ती है, वह ICU में ही है लेकिन क्रिटिकल नहीं है।

अदालत की सुनवाई के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से दलील दी गई थी कि पीड़िता का चाचा रायबरेली जेल में सुरक्षित है हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने इस दलील को नहीं सुना। और चाचा को दिल्ली की तिहाड़ जेल में शिफ्ट करने आदेश दे दिया है।

अदालत ने पीड़िता के मामले को अब सुप्रीम कोर्ट की दूसरी बेंच को सौंप दिया है, जो पूरे केस पर नजर बनाए रखेगी। इतना ही नहीं पीड़िता के इलाज पर भी लगातार रिपोर्ट लेती रहेगी। इसके अलावाचीफ जस्टिस ने इसके साथ ही मीडिया को आदेश दिया है कि वह उन्नाव रेप पीड़िता की पहचान को सामने ना लाएं।

Support Newsroompost
Support Newsroompost