UP Conversion Case: धर्मांतरण मामले में यूपी ATS को मिली एक और बड़ी सफलता, 3 और आरोपी गिरफ्तार

UP Conversion Case: धर्मांतरण मामले के मुख्य आरोपी उमर गौतम और जहांगीर से पूछताछ के बाद पुलिस ने इन तीनों आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इस बारे में एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) प्रशांत कुमार ने जानकारी दी कि, एटीएस की टीम ने राहुल भोला, मन्नू और इरफान खान को गिरफ्तार किया है।

Written by: June 28, 2021 7:07 pm
Conversion case UP

लखनऊ। धर्मांतरण मामले में यूपी एटीएस को सोमवार को एक और सफलता मिली है। बता दें कि मोहम्मद उमर गौतम और मुफ्ती काजी जहांगीर की गिरफ्तारी के बाद यूपी पुलिस ने तीन और लोगों को गिरफ्तार किया है। जिन लोगों को गिरफ्तार किया गया है उनमें राहुल भोला, मन्नू और इरफान खान शामिल हैं। बता दें कि जानकारी के मुताबिक राहुल भोला को दिल्ली, इरफान को महाराष्ट्र और मन्नू यादव को हरियाणा के गुरुग्राम से गिरफ्तार किया गया है। वहीं धर्मांतरण मामले के मुख्य आरोपी उमर गौतम और जहांगीर से पूछताछ के बाद पुलिस ने इन तीनों आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इस बारे में एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) प्रशांत कुमार ने जानकारी दी कि, एटीएस की टीम ने राहुल भोला, मन्नू और इरफान खान को गिरफ्तार किया है। जिसमें से मन्नू यादव को गुरुग्राम से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने कहा कि, इन लोगों से धर्मांतरण के मामले में पूछताछ की जाएगी। पुलिस को उम्मीद है कि इस मामले में और लोगों की भागीदारी हो सकती है।

वहीं उमर गौतम को लेकर UP के ADG (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने जानकारी दी कि, “प्रकाश में आया है कि अभियुक्त उमर गौतम के द्वारा अपनी तथा अपने परिवार के व्यक्तिगत बैंक खातों का प्रयोग विदेशों से धन लेने के लिए किया गया है। यह फॉरेन करेंसी रेगुलेशन एक्ट 2010 के प्रावधानों का स्पष्ट उल्लंघन है।”

उन्होंने कहा कि, अभियुक्त उमर गौतम द्वारा फातिमा चैरिटेबल ट्रस्ट के खातों में आए धन को व्यक्तिगत रूप से उपयोग करने हेतु अपने परिवार के बैंक खातों में स्थानांतरित किया गया है। उसके द्वारा इस ट्रस्ट का आज तक न तो कोई ऑडिट कराया गया है न ही कोई इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल किया गया है।

दरअसल बीते सोमवार(21 जून) को उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) एटीएस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी थी। जिसमें यूपी एटीएस ने धर्मांतरण कराने वाले रैकेट का भंडाफोड़ किया था। इसमें 2 मौलाना को यूपी ATS ने धर दबोचा है। इसकी जानकारी यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने मीडिया को संबोधित करते हुए दी। जिसमें उन्होंने बताया कि, गिरफ्तार किए गए आरोपियों की पहचान मुफ्ती काजी जहांगीर, मोहम्मद उमर गौतम के तौर पर हुई है। दोनों दिल्ली के जामिया नगर के रहने वाले है।

UP ATS

वहीं उमर गौतम को लेकर दिलचस्प जानकारी सामने आई है। बता दें कि उमर गौतम खुद पहले क्षत्रिय था, बाद में वो मुसलमान बन गया। बता दें कि इस रैकेट में पकड़े गए दोनों मौलानाओं को लेकर जानकारी मिली है कि इन्होंने एक हजार से अधिक लोगों का धर्म परिवर्तन कराया था। उमर गौतम (Umar Gautam) मूल रूप से फतेहपुर जिले के थरियांव थाना क्षेत्र के पंथुआ गांव का रहने वाला है। वहीं जानकारी के मुताबिक इन मौलानाओं पर मूक-बधिर छात्रों और निर्धन लोगों को धन, नौकरी व शादी का लालच देकर धर्मांतरण कराने का आरोप है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost