गोमती को लेकर योगी के तेवर सख्त, मुलायम की समधन समेत कई अफसरों पर बड़ा जुर्माना

यूपी की राजधानी लखनऊ में गोमती नदी के आसपास सफाई को लेकर योगी सरकार के तेवर खासे सख्त हैं। समीक्षा बैठक के दौरान मु्ख्यमंत्री ने कहा कि जिन चार अधिकारियों की लापरवाही से नगर निगम पर एनजीटी ने दो करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया, अब उन्हीं अफसरों से ये राशि वसूल की जाएगी।

Written by: June 26, 2019 4:11 pm

नई दिल्ली। यूपी की राजधानी लखनऊ में गोमती नदी के आसपास सफाई को लेकर योगी सरकार के तेवर खासे सख्त हैं। समीक्षा बैठक के दौरान मु्ख्यमंत्री ने कहा कि जिन चार अधिकारियों की लापरवाही से नगर निगम पर एनजीटी ने दो करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया, अब उन्हीं अफसरों से ये राशि वसूल की जाएगी।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इन दो करोड़ रुपयों की राशि इन अधिकरियों से बराबर-बराबर वसूल की जाए। जानकारी के लिए बता दें कि जिन अधिकारियों पर जुर्माना लगाया गया है उनमें से एक यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की समधन भी हैं। चारों को नोटिस जारी करने के लिए नगर आयुक्त ने अपर नगर आयुक्त को निर्देश दिए हैं।

gomtiriver front

दरअसल लखनऊ की गोमती नदी के आसपास सफाई व्यवस्था सही न मिलने, तट के किनारे कूड़ा पड़ा होने और नालों की गंदगी गोमती में जाने को लेकर सोमवार को एनजीटी ने नगर निगम पर दो करोड़ रुपये का पर्यावरणीय हर्जाना लगाया था। एक महीने पहले एनजीटी ने निगम को गोमती तटों के आसपास से कचरा हटाने के निर्देश दिए थे।

मामले को लेकर नगर आयुक्त इंद्रमणि त्रिपाठी ने इसके लिए जिम्मेदार चीफ इंजीनियर (सिविल) एसपी सिंह, चीफ इंजीनियर (इलेक्ट्रो-मिकैनिकल) राम नगीना त्रिपाठी, जोनल अधिकारी (जोन तीन) राजेश गुप्ता और जोनल अधिकारी (जोन छह) अम्बी बिष्ट पर 50-50 लाख रुपये का हर्जाना व्यक्तिगत रूप से लगाया है, जिनमें अम्बी बिष्ट मुलायम सिंह यादव की समधन हैं।