उत्तर प्रदेश में अपनी सरकार के ढाई साल पूरे होने सीएम योगी ने गिनाई अपनी उपलब्धियां

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के ढाई साल पूरे हो गए हैं, इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में एक प्रेस कांफ्रेंस कर सरकार की उपलब्धियां गिनाई। इस मौके पर उन्होंने एक बुकलेट को लॉन्च किया, जिसमें योगी सरकार की उलब्धियों के बारे में लिखा है।

Avatar Written by: September 19, 2019 4:29 pm

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के ढाई साल पूरे हो गए हैं, इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में एक प्रेस कांफ्रेंस कर सरकार की उपलब्धियां गिनाई। उन्होंने एक बुकलेट भी लॉन्च किया, जिसमें योगी सरकार की उलब्धियों के बारे में लिखा है। 58 पेज के इस बुकलेट में स्लोगन दिया गया है कि ‘भरोसे के ढाई साल और जनसेवा के 30 महीने।’

अपनी बात को रखते हुए मुख्यमंत्री योगी ने प्रधानमंत्री मोदी और गृह मंत्री अमित शाह का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि सुशासन, विकास और विश्वास का प्रतीक बनकर सरकार ने यूपी की 23 करोड़ जनता का विश्वास जीता है। योगी ने कहा कि हमने किसान कर्ज माफी योजना की शुरुआत की जिसके तहत हमारी सरकार ने पहली ही बैठक में 86 लाख लघु और सीमांत किसानों का कर्ज माफ किया।

यूपी में बिजली की हालत पर सीएम योगी बोले कि जिला स्तर पर 24 घंटे, तहसील स्तर पर 20 घंटे और ग्रामीण इलाकों में 18 घंटे बिजली दी जा रही है, इसके साथ ही उन्होंने दावा किया कि उनकी सरकार आने के बाद से प्रदेश में अपराध की घटनाओं में कमी आई है। हत्या में 15 फीसदी, बलवे की घटनाओं में 38 फीसदी और डकैती के मामलों में 54 फीसदी की कमी आई है।

यूपी पुलिस पर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अगले ढाई साल में रेंज स्तर पर एक फरेंसिक लैब बनाएंगे। पुलिस आधुनिकीकरण के लिए फरेंसिक और पुलिस यूनिवर्सिटी की स्थापना की जाएगी जहां फरेंसिक और पुलिस को तकनीक के प्रयोग को लेकर प्रशिक्षण दिया जाएगा।

सीएम योगी ने इस दौरान दावा किया कि पिछली सरकारों में राजकोषीय घाटा 3.3 फीसदी के खतरनाक स्तर पर था। आलम यह था कि यूपी को कोई लोन देने को तैयार नहीं था क्योंकि 3 फीसदी से ज्यादा घाटे पर कोई लोन नहीं देता है। हमने इस घाटे को कम किया और उसे 2.97 फीसदी के स्तर तक लाए।

योगी सरकार ने गिनाए अपने कार्य

  •  इंसेफेलाइटिस के आंकड़ों में 65 फीसदी कमी आई।
  • कृषि विश्वविद्यालय और कृषि विज्ञान केंद्रों को किसानों के साथ जोड़ने की पहल की गई।
  • 73 हजार करोड़ गन्ना मूल्य का भुगतान करने के साथ ही बंद पड़ी चीनी मिल शुरू हुई।
  • 14 और नए मेडिकल कॉलेज के प्रस्ताव भारत सरकार को भेजा गया है।
  • ढाई साल में 50 लाख अधिक बच्चे स्कूल पहुंचे। 90 हजार स्कूलों को कायाकल्प से बदला गया। 193 नए इंटर कॉलेज, 51 नए डिग्री कॉलेज और 2 नए विश्वविद्यालय बनाने की प्रक्रिया शुरू हुई है।
  • 2 लाख करोड़ से अधिक का निवेश हुआ है। इससे 20 लाख से ज्यादा रोजगार के रास्ते खुले हैं। 2.25 लाख से अधिक सरकारी नौकरी दी गई है।
  • अगले 2 वर्षों में 25 लाख लोगों को रोजगार देने का लक्ष्य है। 2 लाख लोगों को 18 हजार करोड़ रुपये का कर्ज दिया जा चुका है।
  •  अगस्त 2020 तक पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का मुख्य कॉरिडोर शुरू कर दिया जाएगा। देश का सबसे बड़ा गंगा एक्सप्रेस-वे भी बनने जा रहा है।
  • स्कॉलरशिप में कई गुना बढ़ोतरी हुई है। एससी-एसटी के 33 लाख, ओबीसी के 55 लाख और सामान्य वर्ग के 19 लाख से अधिक छात्रों को छात्रवृत्ति दी गई है।
  • कन्या सुमंगला योजना की कार्ययोजना बनी। जल्द ही लागू होगी।
  • 7 नगर निगम जो स्मार्ट सिटी योजना में शामिल नहीं हैं, उन्हें प्रदेश सरकार स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करेगी।
    – हर विधानसभा में एक पर्यटन क्षेत्र को विकसित करने का लक्ष्य रखा गया है।
  • सड़क, मेट्रो और एयर कनेक्टिविटी बेहतर हुई। पहले सिर्फ 2 एयरपोर्ट थे, जहां एयर कनेक्टिविटी थी। आज 6 एयरपोर्ट दुनिया के 55 शहरों से जुड़ गए हैं।
  • पिछली सरकार ने डेरियों को बंद कर दिया था। हम 14 नई डेयरी शुरू कर रहे हैं।
  • हर जिले में एक बायो फ्यूल यूनिट लगाने के लिये केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्रालय से बातचीत चल रही है।

 

 

आपको बता दें कि योगी आदित्यनाथ का कहना है कि 14 साल के वनवास के बाद 19 मार्च 2017 को प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनी थी। तब हमारी सरकार के सामने हर क्षेत्र में चुनौतियां थी, लेकिन हमने मुश्किलों को मौकों में बदल कर यहां सुशासन लाने के कामयाबी पाई है।