370 खत्म होने के बाद पूरी तरह शांत है कश्मीर, मौके पर मौजूद एनएसए ने खुद संभाली बागडोर

लोग अब इस बात को भी महसूस कर रहे हैं कि कश्मीर के नेताओं ने अपने स्वार्थों की खातिर उन्हें गुमराह किया और 370 को खत्म नहीं होने दिया। इसी के चलते कश्मीर में बड़ी इंडस्ट्रीज नहीं आ सकी।

Avatar Written by: August 6, 2019 2:53 pm

नई दिल्ली। कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35 ए की समाप्ति के बाद वहां हालात एकदम सामान्य बने हुए हैं। घाटी से किसी भी तरह के विरोध की खबर नहीं है। उल्टा स्थानीय लोग इस कदम का स्वागत कर रहे हैं। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल इस समय श्रीनगर में है। उन्होंने खुद जम्मू कश्मीर की ग्राउंड रिपोर्ट का जायजा लिया है और सूत्रों के मुताबिक यह एकदम दुरुस्त है।

कश्मीर के स्थानीय लोगों ने सरकार के इस ऐलान पर खुशी जाहिर की है कि जम्मू कश्मीर को हालात सामान्य होते ही पूर्ण राज्य का दर्जा दे दिया जाएगा। जब तक हालात सामान्य नहीं होते हैं, इसे बतौर केंद्र शासित प्रदेश ही रखा जाएगा। कल गृह मंत्री अमित शाह ने संसद में इस बात का ऐलान किया था। उनके इस ऐलान ने कश्मीर के लोगों का भरोसा जीता है।

Jammu and Kashmir

लोग अपने रोजमर्रा के कामों में लगे हुए हैं। कश्मीरी नेताओं और अलगाववादियों के द्वारा जिस तरह का अंदेशा जताया जा रहा था और खून खराबे की बातें की जा रही थीं, वे सब गलत साबित हुई। एहतियातन महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला दोनों को हिरासत में ले लिया गया है ताकि वे लोगों को बरगला कर अपनी राजनीति चमकाने का काम न करें।

लोग अब इस बात को भी महसूस कर रहे हैं कि कश्मीर के नेताओं ने अपने स्वार्थों की खातिर उन्हें गुमराह किया और 370 को खत्म नहीं होने दिया। इसी के चलते कश्मीर में बड़ी इंडस्ट्रीज नहीं आ सकी। यहां जमीनों की कीमत नहीं बढ़ सकी और लोगों को रोजगार नहीं मिल सका। सिर्फ कुछ परिवारों का फायदा हुआ और आम जनता गरीबी के कुचक्र में पिसती हुई भ्रष्टाचार की मार झेलती रही।

See More Video:

Support Newsroompost
Support Newsroompost