विश्व हिंदू परिषद नेता ने ओमजी का सर कलम करने पर 50 लाख देने की घोषणा की

बजरंग दल ने यह भी मांग की थी कि ओमजी के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के अंतर्गत मामला दर्ज किया जाए। ओमजी ने रविवार को कहा था कि चिन्मयानंद के खिलाफ मामला राम मंदिर निर्माण में बाधा उत्पन्न करने के लिए दर्ज कराया गया है।

Written by: September 17, 2019 10:53 am

नई दिल्ली। शाहजहांपुर में विश्व हिंदू परिषद (विहिद) के जिला सचिव ने विवादित स्वघोषित संत और बिग बॉस प्रतिभागी स्वामी ओमजी का सर कलम करने वाले को 50 लाख रुपये देने की घोषणा की है। सोमवार को ओमजी का पुतला जलाने वाले राजेश मिश्रा ने कहा कि ओमजी जैसे संत हिंदुत्व के लिए धब्बा हैं और इनका सर कलम कर देना चाहिए।

स्वघोषित संत ओमजी

ओमजी ने भाजपा नेता चिन्मयानंद के प्रति अपना समर्थन जताते हुए कहा है कि उन पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली महिलाएं विष-कन्याएं हैं। इससे पहले बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने यहां जिला मजिस्ट्रेट को एक ज्ञापन देते हुए ओमजी के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग की थी और कहा था कि आपत्तिजनक बयान देने के लिए उन्हें जेल भेज देना चाहिए।

Swami Chinmayanand
चिन्मयानंद

बजरंग दल ने यह भी मांग की थी कि ओमजी के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के अंतर्गत मामला दर्ज किया जाए। ओमजी ने रविवार को कहा था कि चिन्मयानंद के खिलाफ मामला राम मंदिर निर्माण में बाधा उत्पन्न करने के लिए दर्ज कराया गया है।


उन्होंने कहा था, “चिन्मयानंद ने कहा था कि मंदिर निर्माण छह दिसंबर से शुरू होगा और यह घटना चिन्मयानंद को फंसाने के लिए रची गई है। मैं सरकार से उनके खिलाफ लगे सभी आरोपों को हटाने की मांग करता हूं।” एक सवाल के जवाब में, ओमजी ने कहा था कि चिन्मयानंद पर शोषण का आरोप लगाने वाली सभी महिलाएं विष कन्याएं हैं और उन पर भरोसा नहीं किया जा सकता। ओमजी द्वारा महिलाओं के खिलाफ दिए गए बयान के खिलाफ कई सामाजिक संगठन भी प्रदर्शन कर रहे हैं।