प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर लोकसभा में हंगामा, राजनाथ सिंह बोले-गोडसे को देशभक्त मानने की सोच निंदनीय

राजनाथ सिंह ने भी लोकसभा में प्रज्ञा के बयान की निंदा करते हुए कहा, “नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहे जाने की बात तो दूर, हम उन्हें देशभक्त मानने की सोच की ही निंदा करते हैं। महात्मा गांधी हम लोगों के आदर्श हैं। वह पहले भी हमारे मार्गदर्शक थे और भविष्य में भी मार्गदर्शक रहेंगे। उनकी विचारधारा उस समय भी प्रासंगिक थी, आज भी है और आगे भी रहेगी।”

Written by: November 28, 2019 12:11 pm

नई दिल्ली। भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह द्वारा महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहे जाने वाले बयान को लेकर आज भी संसद में हंगामा हुआ। लोकसभा में आज सदन का कार्यवाही शुरू होते के साथ ही कांग्रेस सांसदों ने साध्वी प्रज्ञा के बयान को लेकर हंगामा शुरू कर दिया। कांग्रेस और तमाम विपक्षी सांसद आज साध्वी के बयान पर चर्चा की मांग पर अड़े थे।

Lok Sabha

विपक्ष के हंगामे के बीच इस मामले पर कुछ बोलने लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह खड़े हुए। राजनाथ सिंह ने भी लोकसभा में प्रज्ञा के बयान की निंदा करते हुए कहा, “नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहे जाने की बात तो दूर, हम उन्हें देशभक्त मानने की सोच की ही निंदा करते हैं। महात्मा गांधी हम लोगों के आदर्श हैं। वह पहले भी हमारे मार्गदर्शक थे और भविष्य में भी मार्गदर्शक रहेंगे। उनकी विचारधारा उस समय भी प्रासंगिक थी, आज भी है और आगे भी रहेगी।”

Rajnath Singh

इस दौरान कांग्रेस सदस्यों ने हंगामा किया और विपक्ष के तमाम सांसद सदन से वाॉकआउट कर गए। वहीं स्पीकर ओम बिरला ने लोकसभा में कहा कि प्रज्ञा ठाकुर के बयान को रिकॉर्ड से हटा दिया गया है।

गौरतलब है कि बुधवार को एसपीजी संशोधन विधेयक पर बहस के दौरान द्रमुक सांसद ए. राजा ने बहस के दौरान महात्मा गांधी की हत्या से जुड़े नाथूराम गोडसे के बयान का जिक्र किया। यह सुनते ही भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर खड़ीं होकर चीख पड़ीं। उन्होंने गोडसे को देशभक्त बताते हुए ए. राजा के बयान का विरोध किया।

Sadhvi Pragya Thakur BJp

इससे पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सांसद प्रज्ञा ठाकुर द्वारा बुधवार को संसद में, महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे पर दिए गए बयान की गुरुवार को भाजपा ने निंदा की, और कहा कि उसने उन्हें रक्षा मंत्रालय की सलाहकार समिति से हटाने का निर्णय लिया। भाजपा ने प्रज्ञा को रक्षा मंत्रालय की 21 सदस्यीय सलाहकार समिति में सदस्य नियुक्त किया था, जिसके अध्यक्ष रक्षामंत्री राजनाथ सिंह हैं।