प्रधानमंत्री मोदी ने चक्रवात ‘बुलबुल’ को लेकर ममता बनर्जी से की बातचीत

पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में चक्रवाती तूफान ‘बुलबुल’ द्वारा तबाही मचाने के एक दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से फोन पर बात कर स्थिति का जायजा लिया।

Written by: November 10, 2019 12:23 pm

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में चक्रवाती तूफान ‘बुलबुल’ द्वारा तबाही मचाने के एक दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से फोन पर बात कर स्थिति का जायजा लिया। मोदी ने टेलीफोन पर बातचीत के जरिए ममता बनर्जी को केंद्र की ओर से हरसंभव सहायता देने का आश्वासन दिया।

pm modi on cyclone bulbul

उन्होंने ट्वीट किया, “पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बुलबुल चक्रवाती तूफान के सिलसिले में बातचीत हुई। मैं सभी की सुरक्षा और कुशलता की प्रार्थना करता हूं।”

इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने चक्रवाती तूफान के कारण भारी बारिश से फसल और संपत्ति को हुए भारी नुकसान का सामना कर रहे पूर्वी भारत की स्थिति की भी समीक्षा की।

West Bengal Chief Minister Mamata Banerjee

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बताया कि तटीय क्षेत्र में किसी तरह के जान-माल की हानि की सूचना नहीं मिली है। चक्रवात का प्रमुख हिस्सा बंगाल से पार हो चुका है। वहीं उन्होंने परिस्थिति के सामान्य होने तक लोगों से घर के बाहर नहीं निकलने की अपील की है।

cyclone bulbul west bengal

आपको बताते चलें कि बांग्लादेश में रविवार तड़के शक्तिशाली चक्रवात ‘बुलबुल के आने के कारण लाखों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। वहीं दूसरी ओर, अब यह तूफान धीरे-धीरे पश्चिम बंगाल की ओर बढ़ रहा है। बांग्लादेश के कनिष्ठ आपदा प्रबंधन मंत्री एनामुर रहमान ने बताया कि 18 लाख से अधिक लोगों को शनिवार शाम तक सुरक्षित निकाला गया।

cyclone bulbul

शनिवार सुबह तक 5,000 से अधिक आश्रयगृह तैयार किए गए थे। चक्रवात के कारण 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चली जबकि तट पार करने के बाद इसके कमजोर पड़ने की संभावना है।

चक्रवात गंगासागर के किनारे टकराया और यह ‘खुलना क्षेत्र से होकर गुजरेगा जिसमें सुंदरवन भी आता है। टीवी चैनल ‘इंडिपेंडेंट की खबर के अनुसार किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए बांग्लादेश की नौसेना और तटरक्षक बल को तैयार रखा गया है।