सातवें और आखिरी चरण की वोटिंग में भी पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा

यह पहला मौका नहीं है जब टीएमसी और भाजपा के कार्यकर्ताओं के बीच बंगाल में हिंसा की खबरे सामने आईं है। बल्कि इस लोकसभा चुनाव में पिछले छह चरणों में लगातार बंगाल हिंसा का केंद्र बना हुआ है।

Written by: May 19, 2019 12:32 pm

नई दिल्ली। सातवें चरण और आखिरी चरण की वोटिंग में पश्चिम बंगाल से एकबार फिर हिंसा की खबर सामने आई है। पिछले चरणों की तरह ही आज सातवें चरण की वोटिंग से पहले भी बंगाल में व्यापक रूप से हिंसा की खबर सामने आई। जी हां, पश्चिम बंगाल के बैरकपुर में कल रात जबरदस्त हिंसा की खबर आई। बताया जा रहा है कि बैरकपुर के भाटपाड़ा में कल रात बीजेपी और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच जबरदस्त झड़प हो गई। झड़प के दौरान दो गाड़ियों में आग लगा दी गयी और बम फेंकीं गई। जिसके बाद यह झड़प और गंभीर रूप लेता गया।

west bengal

यह पहला मौका नहीं है जब टीएमसी और भाजपा के कार्यकर्ताओं के बीच बंगाल में हिंसा की खबरे सामने आईं है। बल्कि इस लोकसभा चुनाव में पिछले छह चरणों में लगातार बंगाल हिंसा का केंद्र बना हुआ है। भाजपा का आरोप है कि तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने आगजनी की घटना को अंजाम दिया है। वहीं बारासात संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले न्यूटाउन इलाके के कदम्पुकुर में भी हिंसा की खबर है। कोलकाता में टीएमसी के पार्षद सुभाष बोस को हिरासत में ले लिया गया है जबकि बिधाननगर में बीजेपी नेता अनुपम दत्ता को भी नजरबंद किया गया है। बंगाल में पहले दौर के मतदान से लेकर आखिरी दौर तक हर बार टीएमसी और भाजपा कार्यकर्ताओं में जमकर झड़प हुई है।

west bengal voting violence

सातवें और आखिरी चरण में बंगाल की 9 लोकसभा सीटों पर मतदान हो रहा है। जिसमें कोलकाता उत्तर, कोलकाता दक्षिण, दमदम, बारासात, बशीरहाट, जादवपुर, डायमंड हार्बर, जयनगर (एससी) और मथुरापुर (एससी) लोकसभा सीटों पर वोटिंग हो रही है।