जब पीएम मोदी से पूछा गया- मुसलमानों से क्या रिश्ता है आपका?, मिला ये जवाब

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक और इंटरव्यू दिया है। एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में पीएम मोदी ने गांधी परिवार से लेकर राम मंदिर, कांग्रेस के घोषणापत्र और मुस्लिमों तक खुलकर अपनी बात रखी।

Avatar Written by: April 5, 2019 10:46 am

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक और इंटरव्यू दिया है। एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में पीएम मोदी ने गांधी परिवार से लेकर राम मंदिर, कांग्रेस के घोषणापत्र और मुस्लिमों तक खुलकर अपनी बात रखी। पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर में पीडीपी के समर्थन से सरकार बनाने को लेकर कहा, ‘जिस दिन हमने गठबंधन किया उस समय मुफ्ती मोहम्मद सईद साहब थे, वह एक वरिष्ठ, अनुभवी और परिपक्व नेता थे। वह चीजों को समझते थे। हमारी विचारधाराएं अलग थीं। एक तरह से यह महामिलावटी सरकार थी। किसी परिस्थिति में यह सरकार बन ही नहीं सकती थी।

Narendra Modi

प्रधानमंत्री ने आगे कहा, ‘हमने सरकार को चलाने की कोशिश की और कई अच्छे काम भी किए। मगर मुफ्ती साहब चले गए। अब महबूबा जी के साथ काम करना था। महबूबा के काम करने का तरीका अलग था। फिर एक महत्वपूर्ण मुद्दा आया जिसके कारण सरकार टूटी। हमारा साफ तौर पर यह मानना था कि जम्मू-कश्मीर में स्थानीय निकाय, पंचायत, नगरपालिका के चुनाव होने चाहिए। वहां की जनता को अपना कारोबार करने का हक दिया जाना चाहिए।’

Mehbooba Mufti And Narendra Modi

पीएम मोदी का मुसलमानों से रिश्ता क्या है?

वहीं जब प्रधानमंत्री मोदी से पूछा गया कि हिंदुस्तान के मुसलमानों से रिश्ता क्या है? तो पीएम ने जवाब दिया, ‘जब सच्चर कमेटी की रिपोर्ट आई थी और उन्होंने मुझसे पूछा था कि मोदीजी आपने मुसलमानों के लिए क्या किया, तो मेरा जवाब था, मैंने मुसलमानों के लिए कुछ नहीं किया और कुछ नहीं करूंगा। मैंने हिंदुओं के लिए भी कुछ नहीं किया, ना करूंगा। मैंने गुजरातवारियों के लिए बहुत कुछ किया और करता रहूंगा।’

कांग्रेस के घोषणापत्र को लेकर प्रधानमंत्री ने कहा, ‘कांग्रेस पार्टी ने परमाणु ऊर्जा संयंत्र के खिलाफ आंदोलन करने वाले 6000 से ज्यादा लोगों को देशद्रोह के कानून में जेल भेज दिया क्यों? आज वह दुनिया को उपदेश दे रही है। आप चाहेंगे कि देश के टुकड़े होंगे जैसी बातों को बल मिले? आप चाहते हैं कि भारत के तिरंगे झंडे को कोई रौंद दे, राष्ट्रगान का अपमान करे? आंबेडकर की मूर्ति तोड़ दे? इन चीजों को रोकने के लिए क्या करोगे?’

इंटरव्यू के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस जैसी पार्टी राष्ट्रीय सुरक्षा जैसे मुद्दों पर घोषणापत्र में ऐसी बात कर रही है. देश की सेना को इतना जलील करें, बलात्कार के आरोप वाली बातें करें, ऐसा शोभा देता है क्या? उन्होंने कहा कि हम ऐसा हिन्दुस्तान चाहते हैं जिसमे AFSPA हो ही ना। लेकिन उससे पहले उस स्थिति का निर्माण तो किया जाना चाहिए, जिससे इसकी आवश्यकता ही ना पड़े।