भाजपा की बंपर जीत के बाद सुरक्षाबलों का बड़ा एनकाउंटर, त्राल में आतंकी जाकिर मूसा ढेर

रिपोर्ट के मुताबिक सेना की 42 राष्ट्रीय राइफल्स, स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप और सीआरपीएफ की एक टुकड़ी ने ददसारा गांव में एक ऑपरेशन में दो आतंकियों को ढेर किया है। इनमें से एक आतंकी जाकिर मूसा है। सूत्रों के मुताबिक खुफिया सूचना के आधार पर सुरक्षाबलों ने इन दोनों आतंकियों को घेर लिया था।

Written by: May 24, 2019 10:41 am

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में अति वांछित आतंकवादी जाकिर मूसा को सुरक्षाबलों ने मार गिराया। सूत्रों ने कहा कि मूसा अलकायदा से संबद्ध संगठन अंजर गजवत-उल हिंद का प्रमुख था। उसे पुलवामा जिले के त्राल इलाके में ददसारा गांव में मार गिराया गया। बता दें कि आतंकी जाकिर मूसा की सुरक्षा एजेंसियों को लंबे समय से तलाश थी।

Zakir Musa

रिपोर्ट के मुताबिक सेना की 42 राष्ट्रीय राइफल्स, स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप और सीआरपीएफ की एक टुकड़ी ने ददसारा गांव में एक ऑपरेशन में दो आतंकियों को ढेर किया है। इनमें से एक आतंकी जाकिर मूसा है। सूत्रों के मुताबिक खुफिया सूचना के आधार पर सुरक्षाबलों ने इन दोनों आतंकियों को घेर लिया था।सुरक्षाबलों से जब इनसे सरेंडर करने को कहा तो ये आतंकी ग्रेनेड से हमला करने लगे। इस दौरान सुरक्षाबलों की जवाबी कार्रवाई में जाकिर मूसा मारा गया।

indian army

वहीं जाकिर मूसा के मारे जाने की खबर फैलने के बाद श्रीनगर, पुलवामा, शोपियां और कश्मीर घाटी के कुछ अन्य स्थानों में विरोध प्रदर्शन के बाद प्रशासन ने शुक्रवार को घाटी के कुछ हिस्सों में प्रतिबंध लागू कर दिए हैं। घाटी भर के सभी शिक्षण संस्थानों को आज बंद कर रखा गया है। कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए घाटी में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया गया है। यहां तक कि भड़काऊ पोस्ट और तस्वीरों को अपलोड करने से रोकने के लिए फिक्स्ड लैंडलाइन ब्रॉडबैंड कनेक्शन की स्पीड को भी कम कर दिया गया है।

कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए राजधानी श्रीनगर, दक्षिणी कश्मीर पुलवामा, अनंतनाग, शोपियां और कुलगाम जिलों में और घाटी के अन्य संवदेनशील इलाकों में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सुरक्षाकर्मियों की भारी तैनाती की गई है। मारे गए शीर्ष कमांडर के शव को उसके परिवार को सौंप दिए जाने के बाद स्थिति को नियंत्रित करने के लिए अधिकारियों द्वारा एहतियात के तौर पर ये कदम उठाए गए हैं।