कांग्रेस ने कहा सुप्रीम कोर्ट के जजों के उठाए सवाल बेहद गंभीर

नई दिल्ली। देश की सबसे बड़ी अदालत के बाहर जजों की कॉन्फ्रेंस को लेकर उठे विवाद को बेहद संवेदनशील बताते हुए कांग्रेस ने बयान जारी किया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ”ये बहुत संवेदनशील मामला है, चार जजों ने जो मुद्दे उठाए हैं वो बहुत महत्वपूर्ण हैं। जजों ने कहा कि लोकतंत्र खतरे में है इस पर ध्यान देने की जरूरत है।’इसके साथ ही राहुल गांधी ने जस्टिस लोया की मौत का मुद्दा भी उठाते हुए कहा कि इस मामले की जांच वरिष्ठ जज से करानी चाहिए। हमारी न्याय प्रणाली पर पूरा देश भरोसा करता है, इसीलिए आज हम इस पर बयान जारी कर रहे हैं।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ”आज सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ जजों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की, इसके साथ ही एक वो पत्र भी जारी किया जो उन्होंने चीफ जस्टिस को लिखा था। माननीय जजों की टिप्पणी बेहद परेशान करने वाली हैं। जजों की इस प्रेस कॉन्फ्रेंस का लोकतंत्र पर दूरगामी असर होगा।” इसके साथ ही कांग्रेस ने जस्टिस लोया की मौत की जांच वरिष्ठतम जज से कराने की मांग की है।

जजों के प्रेस कॉन्फ्रेंस विवाद पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के घर आज शाम बैठक हुई। इस बैठक में पूर्व कानून मंत्री सलमान खुर्शीद, कपिल सिब्बल, पी चिदंबरम, अहमद पटेल, मोतीलाल बोरा, मनीष तिवारी, कांग्रेस लीगल सेल के हेड विवेक तन्खा और काग्रेंस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला शामिल हुए।इस मामले पर कांग्रेस ने प्रारंभिक प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जजों की चिंता से हम भी चिंतित हैं। कांग्रेस नेता और पूर्व कानून मंत्री सलमान खुर्शीद ने इस पूरे मामले को दुखद करार दिया तो वहीं अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि जजों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कुछ भी गलत नहीं किया।

Facebook Comments