कांग्रेस कर्नाटक को लेकर जो ख्वाब बुन रही है उसपे फिरता दिख रहा है पानी !

  • 10.7K
  • 1
  •  
  •  
  •  
    10.7K
    Shares

नई दिल्ली। कर्नाटक विधानसभा चुनावों की मतगणना के दौरान ही जेडीएस को समर्थन देने की बात कर चुकी कांग्रेस का यह पासा लगता है उल्टा पड़ रहा है। जैसे-जैसे दिन बीत रहा है कांग्रेस और जेडीएस के बीच दूरियां बढ़ती हुई नजर आ रही हैं।  hd deve gowda JDS

सत्ता के गलियारों से खबर आ रही है कि पूर्व प्रधानमंत्री और जेडीएस अध्यक्ष एचडी देवगौड़ा अपने बड़े बेटे एचडी रावन्ना को कर्नाटक का उपमुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं। चुनाव नतीजे आने के बाद कांग्रेस ने आगे बढ़कर जेडीएस को ना सिर्फ समर्थन किया था, बल्कि कुमारस्वामी को मुख्यमंत्री पद भी ऑफर किया था।HD Kumaraswamy

देवगौड़ा के इस मांग के बाद जेडीएस और कांग्रेस पार्टी के बीच पेच फंसता दिख रहा है। दूसरी तरफ कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी बीजेपी बहुमत से महज सात सीट दूर है। विधायक दल के नेता चुने जाने के बाद येदियुरप्पा ने राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है।Karnataka Elections 2018

इससे पहले कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) के लिए चिंता बढ़ाने वाली खबर उस समय भी आई, कांग्रेस की बैठक से 25 विधायक नदारद रहे। वहीं नवनिर्वाचित एमबी पाटिल कांग्रेस की बैठक छोड़कर बाहर आ गए थे। एमबी पाटिल ने दावा किया है कि कांग्रेस के और भी छह विधायक उनके साथ हैं।BS Yeddyurappa

जरूरत पड़ने पर वे छह विधायक भी कांग्रेस छोड़ देंगे। उधर, जेडीएस की बैठक में भी 2 नवनिर्वाचित विधायक नहीं पहुंचे हैं। जेडीएस की बैठक में नहीं पहुंचने वाले विधायकों में राजा वेकंटप्पा और वेंकट राव हैं।HD Deve Gowda

बता दें कर्नाटक की 224 विधानसभा सीटों में से 222 पर चुनाव हुए थे, जिसमें बीजेपी को 104, कांग्रेस को 78, जेडीएस को 38 और अन्य को दो सीटें मिली हैं। चुनाव नतीजे घोषित होने के बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस इस बात से खुश है कि बीजेपी को कर्नाटक में बहुमत नहीं मिला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस 122 से 77 सीटों पर आ गई, लेकिन उसे अपनी हार नहीं दिख रही है।

Facebook Comments