केरल में भारी बारिश और बाढ़ से बिगड़े हालात, खोले गए बाधों के 24 दरवाजे (वीडियो)

नई दिल्ली। केरल में भारी बारिश, बाढ़ और भूस्खलन का सिलसिला जारी है। पेरियार नदी के लगातार बढ़ रहे जलस्तर को देखते हुए कोच्चि एयरपोर्ट के डूबने की आशंका व्यक्त की जा रही है। हालात को देखते हुए सभी जिलों में कंट्रोल रूम बनाए गये हैं। राहत कैंप भी लगाये जा रहे हैं।Kerala-floods-Army

वहीं आर्मी और एयरफोर्स के साथ एनडीआरएफ की टीमें भी फंसे हुए लोगों को बाहर निकालने के काम में जुटी हुई है। पड़ोसी राज्य तमिलनाडु ने केरल को 5 करोड़ की मदद राशि भेजी है।kerala flood

पिछले 24 घंटे केरल के अलग-अलग हिस्सों में लगातार हो रही बारिश के चलते 26 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 4 लोग लापता बताए जा रहे हैं। आर्मी और एयरफोर्स मिलकर इदुक्की और वायानाड में रेस्क्यू ऑपरेशन चला रही हैं। वहीं बढ़ते जलस्तर के कारण 24 बांध भी खोले गये हैं। इसमें इदुक्की बांध भी शामिल है जहां पानी खतरे के निशान के ऊपर पहुंच चुका है।

इसका एक दरवाजा आंशिक तौर पर खोला गया है जिससे एक सेकंड में 50 हजार लीटर पानी मुक्त किया गया। इदुक्की बांध के दो और दरवाजे शुक्रवार सुबह खोले गये जिससे पेरियार नदी में 125 क्यूसेक (1,25,000 लीटर/सेकंड) पानी छोड़ा गया। भारी बारिश से हुई तबाही को देखते हुए कई इलाकों में रेड अलर्ट जारी किया गया है।kerala flood

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को कहा कि भारी बारिश से प्रभावित केरल को केंद्र की ओर से हर आवश्यक सहयोग प्रदान किया जाएगा। लोकसभा में शून्यकाल के दौरान केरल से ताल्लुक रखने वाले सदस्यों ने बारिश से हुए जानमाल का मुद्दा उठाया और केंद्र सरकार से विशेष वित्तीय पैकेज की मांग की। इस पर राजनाथ सिंह ने कहा कि वह केरल के मुख्यमंत्री से बात करेंगे।

गृह मंत्री ने कहा कि उन्होंने अपने सहयोगी मंत्री किरण रिजिजू को स्थिति का जायजा लेने के लिये राज्य के दौरे पर भेजा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार को जिस तरह के सहयोग की भी जरूरत होगी, वह केंद्र की तरफ से मुहैया कराई जाएगी।

भारी बारिश के कारण केरल में कई नदियां उफान पर हैं जिस कारण राज्य के विभिन्न हिस्सों में कम से कम 24 बांधों को खोल दिया गया है। एशिया के सबसे बड़े अर्ध चंद्राकार बांध इडुक्की जलाशय से पानी छोड़े जाने से पहले रेड अलर्ट जारी किया गया। राज्य के इतिहास में पहली बार 24 बांधों को एक साथ तब खोला गया है जब उनमें जल स्तर अधिकतम सीमा तक पहुंच गया है। इडुक्की जलाशय के चेरूथोनी बांध को 26 वर्षों के बाद खोला गया है।kerala flood

इस बीच अब तक ऐसी कई तस्वीरें और वीडियो सामने आ चुके हैं जो बारिश के कहर को दर्शा रहे हैं। केरल के मलपपुरम क्षेत्र में बारिश बारिश के बाद बहाव की वजह से सड़क का एक हिस्सा पूरी तरह से पानी में बह गया जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो चला है। केरल में कई जगहों पर पानी की वजह से रेलवे ट्रैक को नुकसान पहुंचा है। पानी के बहाव में ट्रैक के नीचे से मिट्टी बह गयी है जिससे रेलवे सेवा बाधित है और मरम्मत का काम किया जा रहा है।

Facebook Comments