नास्त्रेदमस की तरह ही सदगुरु की भविष्यवाणियों ने भी सबको चौंकाया

Written by Newsroom Staff January 2, 2019 3:52 pm

नई दिल्ली। नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियों के बारे में कौन नहीं जनता। भविष्य के गर्भ में झांककर देखना है तो नास्त्रेदमस की भविष्वाणियों को लोग सबसे सटीक और सही मानते हैं। लेकिन केवल नास्त्रेदमस की ही नहीं वर्ष 2018 के लिए सदगुरु स्वामी आनंदी जी के द्वारा की गई भविष्यवाणियां भी शत प्रतिशत सही रही हैं। ऐसे में नए साल से लोगों को तमाम उम्मीदें हैं और इसी के साथ लोगों को याद आ रही हैं इस साल सदगुरु द्वारा की गई भविष्यवाणियां।Anand Johari ji Maharaj

अभी तक जितनी भी भविष्वाणियां सदगुरु द्वारा की गई हैं उसको लेकर इतना तो कहा जा सकता है कि वह भारत के नास्त्रेदमस हैं। दावा है कि उन्होंने बहुत सारी घटनाओं का ऐलान बहुत पहले ही कर दिया था। इनमें मोदी सरकार के नोटबंदी के फ़ैसले से लेकर, इस साल होने वाले चुनाव में मोदी की क्षति और राहुल गांधी के उदभव और अनिल अंबानी के मुसीबत में फंसने जैसी कई बातें शामिल हैं।Anand Johari ji Maharaj

दावा है कि उन्हें पहले से पता था कि इस साल अ, स और म नामाक्षर (जैसे अटलबिहारी, अनन्त कुमार, अजित वाडेकर, श्रीदेवी, सोमनाथ चटर्जी, एम करुणानिधि इत्यादि) के लोगों की मौत होगी।Anand Johari ji Maharaj

बताया जाता है कि बाबा जयगुरुदेव के शिष्य सदगुरुश्री संन्यास से पहले एक कॉरपोरेट संस्थान में उच्च पद पर कार्यरत थे और एक दिन सब कुछ छोड़ कर विश्व में आध्यात्म के बीजारोपण के लिए निकल पड़े। इनके फेसबुक पोस्ट से पता चलता है कि इन्हें बाबा जयगुरुदेव के देहांत के पहले से ही पता था, जिसका संकेत उन्होंने एक-दो महीने पहले ही दे दिया था। ऐसे में अब लोग बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं कि वर्ष 2019 के लिए सदगुरु स्वामी आनंदजी क्या भविष्यवाणी करने वाले हैं।

आपको कुछ उदाहरण के साथ हम समझाने की कोशिश करते हैं। यदि आपको लगता है कि मोदी सरकार की नोटबंदी के फ़ैसले को लेकर पहले से कोई नहीं जानता था, तो आप ग़लत हैं। क्योंकि कोई है जो इस बारे में करीब साल भर पहले से जानता भी था और चिल्ला चिल्ला कर एलान भी कर रहा था।वो मोदी के प्रधानमंत्री बनने के पहले से जानते थे कि प्रधानमंत्री कौन बनने वाला है। वो इस साल होने वाले चुनाव में मोदी की क्षति और राहुल गांधी के उदभव के बारे में भी जानते थे। इतना ही नहीं, उन्हें तो इस बरस राफ़ेल जैसे किसी हंगामे का भी अहसास था। उसे अनिल अंबानी के मुसीबत में फंसने के बारे में भी पहले से ही ख़बर थी।

यहां तक कि उन्हें पहले से पता था कि इस साल अ, स और म नामाक्षर (जैसे अटलबिहारी, अनन्त कुमार, अजित वाडेकर, श्रीदेवी, सोमनाथ चटर्जी, एम करुणानिधि इत्यादि) के लोगों की मौत होगी। जी हां हम बात कर रहे हैं सदगुरुश्री की जिन्हें भारत का नास्त्रेदमस कहा जा सकता है, जिन्होंने उपरोक्त समस्त घटनाओं का ऐलान उनके घटित होने से बहुत पहले ही कर दिया था।

सदगुरुश्री यानी सदगुरु स्वामी आनंदजी जो आज भारत से ज़्यादा पश्चिमी जगत में प्रख्यात हैं, और वहां चुपचाप बिना कोई दान दक्षिणा लिए स्वामी विवेकानंद की तरह भारतीय आध्यात्म और दर्शन को स्थापित करने में लगे हुए हैं।

सदगुरुश्री ने इस वर्ष शेयर बाज़ार की ऐतिहासिक का ऐलान कर दिया था। और जब बाज़ार उछाल पर था, बिना लाग लपेट के उन्होंने भारतीय और अमेरिकी शेयर बाज़ार की मंदी का उदघोष कर दिया था। नोटबंदी और जीएसटी से होने वाली दिक्कतों की मुनादी भी उन्होंने बहुत पहले कर दी थी। और तो और इस वर्ष विश्व को आगज़नी से होने वाली क्षति से पहले से ही चेता दिया था।

Facebook Comments