आज से ये बड़े बदलाव जिसका आपके जीवन में भी पड़ेगा असर, पढ़ें पूरी खबर

Written by: September 1, 2018 11:20 am

नई दिल्ली। अगस्त का महीना खत्म हो गया है और आज से सितंबर महीने की शुरुआत हो चुकी है। लेकिन क्या आप जानते हैं इस महीने से कई बदलाव हो रहे हैं जो आपकी जिंदगी में भी कई बदलाव ले आएगा। आपको बता दें कि 1 सितंबर से देश में 4 बड़े बदलाव होने जा रहे हैं। दरअसल UIDAI आज से फेस रेकग्निशन (चेहरे से पहचान) की सुविधा शुरू कर रहा, जिससे लेनदेन सहित सभी तरह के ट्रांजेक्‍शन सुरक्षित हो जाएंगे। वहीं पोस्‍ट ऑफिस पेमेंट बैंक की सुविधा भी आज से शुरू होने जा रही है। इसमें लोगों को बैंकों के सेविंग बैंक से ज्‍यादा का ब्‍याज दिया जाएगा।

वहीं आज से रेलवे फ्री ट्रेवल इंश्‍योरेंस की सुविधा ख़त्म हो जाएगी। हां अगर कोई इस सुविधा का लाभ लेना चाहता है तो उन्‍हें इसके लिए अलग से पैसे चुकाने होंगे। इसके अलावा अब वाहन खरीदना भी महंगा हो जाएगा।

फ्री नहीं रेल टिकट पर इंश्योरेंस

1 सितंबर से ई- टिकट पर दी जाने वाली मुफ्त ट्रेवल इंश्योरेंस की सुविधा हो रही है। लेकिन इसके बावजूद आप इस इंश्योरेंस को लेना चाहते हैं तो उसे अतिरिक्त भुगतान करना होगा। आईआरसीटीसी दिसंबर 2017 से यात्रियों को फ्री इंश्योरेंस की सुविधा दे रहा था।

बाइक-कार होंगी महंगी

आज से नई कार और टू-व्हीलर्स को खरीदना महंगा हो रहा है। अब कार और टू-व्हीलर्स को खरीदने के वक्त ही कम से कम तीन साल और पांच साल इश्योरेंस  कवर लेना होगा। ऐसे में नए व्हीकल्स पर लॉन्ग टर्म प्रीमियम पेमेंट्स की वजह से शुरुआती खर्च बढ़ जाएगा। सुप्रीम कोर्ट ने थर्ड पार्टी इं‍श्‍योरेंस कवरेज बढ़ाने के लिए यह कदम उठाया है। फोर व्‍हीलर व्‍हीकल्‍स को तीन साल और टू-व्‍हीलर मालिक को 5 साल का कवर लेना अनिवार्य होगा।

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक की होगी शुरुआत

post office के इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (IPPB) की शुरुआत भी 1 सितंबर से हो रही है। यह देश का पहला ऐसा बड़ा बैंक होगा, जो लोगों घर पर बैंकिंग की सर्विस मुहैया कराएगा। डाक विभाग के देश भर में फैले अपने डाक सेवकों और पोस्टमैन के जरिए यह सेवा मुहैया कराएगा। बैंकों में जहां सेविंग अकाउंट पर 4 फीसदी के आसपास ब्याज मिल रहा है, वहीं डाक विभाग का पेमेंट बैंक सेविंग अकाउंट पर 5.5 फीसदी ब्याज देगा।

रिटर्न फाइल पर जुर्माना

इनकम टैक्स रिटर्न यानी आइटीआर फाइल करने की आखिरी तारीख 31 अगस्त  थी. इसके बाद इसे फाइल करने के लिए जुर्माना देना पड़ेगा. इस साल जुर्माने का नियम शुरू किया गया है. इसके मुताबिक आखिरी तारीख के बाद इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने पर 10,000 तक जुर्माना देना होगा.