सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर ये क्या बोल गए मशहूर मलयालम ऐक्टर

Written by: October 13, 2018 3:45 pm

नई दिल्ली। सबरीमाला मंदिर मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले से नाराज मलयालम ऐक्टर का विवादित बयान सामने आया है। मलयालम अभिनेता और भाजपा समर्थक तुलसीधरन नायर ने भाजपा द्वारा आयोजित मार्च में कहा कि सबरीमाला मंदिर में आने वाली महिलाओं के दो टुकड़े कर देने चाहिए। ये मार्च सुप्रीम कोर्ट के उस फैसले के खिलाफ निकाला गया था जिसमें हर उम्र की महिलाओं को सबरीमाला मंदिर में जाने की अनुमति दी गई थी।बता दें कि कोल्लम तुलसी ने कहा, ‘जो महिलाएं सबरीमाला जाती हैं उनके दो टुकड़े कर देने चाहिए और एक टुकड़े को दिल्ली भेज देना चाहिए जबकि दूसरे को मुख्यमंत्री कार्यालय के बाहर फेंक देना चाहिए।’ इस मार्च का नेतृत्व करने वाले राज्य बीजेपी प्रमुख पीएस श्रीधरन पिल्लई ने खुद को तुलसी की इस टिप्पणी से अलग करते हुए कहा कि यह उनका व्यक्तिगत विचार है।

अभिनेता के बचाव में भाजपा नेता

श्रीधरन ने कहा, ‘कोल्लम तुलसी एक सिने अभिनेता हैं, जो स्थानीय अयप्पा मंदिर के प्रतिनिधि के रूप में अपना पक्ष रखने आए थे। हम यह नहीं बता सकते कि वक्ताओं को कैसे और क्या बोलना चाहिए। बीजेपी का उनके विचारों से सहमत होना जरूरी नहीं है। उन्होंने कहा, ‘जब कोई ऐसे माहौल में बोलता है तो शब्दों का प्रयोग सोच-समझकर और सीमा में रहकर करना होता है। हमें भी इसे आंदोलन की भावना में देखना होगा।

शिवसेना नेता का विवादित बयान

दूसरी ओर इस मामले पर शिवसेना नेता पैरिंगम्मला अजि ने विवादास्पद बयान देते हुए कहा कि उनकी पार्टी की महिला कार्यकर्ताएं 17-18 अक्टूबर को पांबा नदी के किनारे आत्महत्या समूह का हिस्सा होंगी। जैसे ही कोई युवती मंदिर में प्रवेश करेगी, हमारी कार्यकर्ताएं आत्महत्या कर लेंगी।

सामाजिक कार्यकर्ता तृप्ति देसाई की जिद्द

तो वहीं मामले पर सामाजिक कार्यकर्ता तृप्ति देसाई का भी कहना है कि वो अभी भी मंदिर जाने के लिए दृढ़ हैं। बता दें, मंदिर के द्वार नियमित मासिक पूजा के लिए 18 अक्टूबर को खुलेंगे।

एक मलयालम टीवी चैनल से बात करते हुए देसाई ने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट ने महिलाओं के मूल अधिकारों के समर्थन में आदेश दिया है तो वह जल्द ही सबरीमाला मंदिर जाने की अपनी तिथि घोषित करेंगी। जानकारी के लिए बता दें कि मुंबई की हाजी अली दरगाह समेत कई तीर्थस्थलों के दरवाजे महिलाओं के लिए खोलने में तृप्ति देसाई ने प्रमुख भूमिका निभाई है।