किस हद तक गिर सकता है पाकिस्तान, देखकर आपको भी आ जाएगी शर्म !

Avatar Written by: April 6, 2018 5:58 pm

नई दिल्ली। काला हिरण शिकार के 20 साल पुराने मामले में बॉलिवुड अभिनेता सलमान खान को 5 साल की सजा सुनाए जाने पर लोग अलग-अलग तरीके से प्रतिक्रिया दे रहे हैं। इस केस की सुनवाई पर सिर्फ भारत के अंदर ही नहीं बल्कि सरहद पार पाकिस्तान में बैठे लोगों की भी निगाहें रुकी हुई थीं। इस फैसले पर पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने भी प्रतिक्रिया दी और इसे ‘भेदभावपूर्ण’ बताया। उन्होंने बेतुका बयान देते हुए कहा कि सलमान को सजा अल्पसंख्यक होने के कारण मिली है। जबकि पाकिस्तानी विदेश मंत्री बयान देते हुए यह भूल गए कि इसी मामले में अदालत ने एक और मुस्लिम आरोपी और सलमान खान के सहकलाकार सैफ अली खान को बरी कर दिया। पाकिस्तान के विदेश मंत्री के बयान से ऐसा लग रहा था कि वह सैफ अली खान को मुसलमान हीं नहीं मानते हैं और उनका निशाना सीधे तौर पर भारतीय न्यायिक व्यवस्था पर है जबकि उनके देश की न्यायिक व्यवस्था खुद हीं चरमराई हुई है।

Khwaja Asif

Source: Media Gallery

पाकिस्तान के एक पत्रकार हामिद मीर ने पाकिस्तान के विदेश मंत्री के बयान वाला वीडियो भी ट्वीट किया जो काफी वायरल हो रहा है। जियो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, एक टीवी शो में आसिफ ने कहा, ‘सलमान खान को इसलिए सजा दी गई क्योंकि वह अल्पसंख्यक हैं।’ विदेश मंत्री ने कहा कि 20 साल पुराने मामले में सलमान को सजा दिए जाने से पता चलता है कि भारत में मुसलमानों और ईसाइयों का महत्व नहीं है। उन्होंने आगे कहा, ‘अगर वह सत्ताधारी पार्टी के धर्म से होते, तो उन्हें इतनी कड़ी सजा नहीं मिलती और कोर्ट उनके प्रति नरमी बरतता।’

Source: Media Gallery

वहीं सलमान खान को सजा दिए जाने के मामले में पाकिस्तान के पूर्व गृहमंत्री रहमान मलिक ने ट्वीट कर भारतीय कानून पर उंगली उठाई तो ट्रोलर्स ने उन्हें घेर लिया। ट्रोल हुए रहमान मलिक ने फिर से ट्वीट कर यूजर्स को रॉ एजेंट बता डाला।  Source: 

रहमान मलिक ने गुरुवार (5 अप्रैल) को रात 10.26 बजे सलमान की सजा का जिक्र करते हुए ट्वीट में लिखा- क्या भारत प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ निर्दोष कश्मीरियों के हत्यारों को फांसी देकर कानून के नियम को दिखा सकता है। भारत के तथाकथित कानून के शासन का प्रदर्शन करने के लिए सलमान खान को बली का बकरी बना दिया गया है। पीएम मोदी के नेतृत्व वाली आरएसएस के ऑपरेटरों को फांसी पर चढ़ा दो वरना सलमान खान को जाने दो।

Source: 

रहमान मलिक को ट्रोल कर रहे एक यूजर ने उन्हें अनपढ़ और असभ्य बताते हुए लिखा- पहले डीयर (हिरन) की वर्तनी सीख लो। तुम ऐसे देश से हो जहां लोगों को हर दूसरे कारण के लिए काटा जाता। जिनमें हिन्दू, बौद्ध, मुसलमान, शिया आदि शामिल हैं।

Source: 

इस पर रहमान मलिक ने जवाब दिया- आपने वहां सलमान खान को हिरण का शिकार करने के लिए सजा दी जहां आरएसएस मुस्लिमों और ईसाइयों का भारत में शिकार कर रही है। उन्हें सजा दें और फांसी पर चढ़ा दें, तब कहें कि भारत में कानून का राज है। रहमान मलिक यहीं नहीं थमे, एक के बाद एक उन्होंने कई ट्वीट किए। एक ट्वीट में रहमान मलिक ने लिखा- गुजरात में जहां पीएम मोदी के नेतृत्व वाली आरएसएस के जरिये निर्दोष कश्मीरी और गुजराती मुस्लिम मारे जा रहे हैं, वहां एक हिरण का शिकार करने के लिए बॉलीवुड स्टार सलमान खान को पांच साल की सजा देकर भारत दुनिया के सामने यह साबित करने की कोशिश कर रहा है कि वह कानून के शासन में चैंपियन है।

Source: 

आखिर में रहमान मलिक ने इस प्रकरण को लेकर एक और ट्वीट किया जिसमें ट्विटर यूजर्स को रॉ का एजेंट करार दिया। रहमान मलिक ने लिखा- ट्विटर पर तुम रॉ के भारतीय ऑपरेटर्स केवल मामूली टाइपो की आलोचना कर सकते हो लेकिन मेरे ट्वीट के मर्म पर प्रतिक्रिया नहीं दे सकते हो। मुस्लिम कश्मीरियों और भारतीय ईसाइयों के नरसंहार को स्वीकार करने की हिम्मत रखो।

Source: 

इसके बाद तो ट्वीटर पर लोगों की प्रतिक्रिया की बाढ़ आ गई। लोगों ने जमकर सोशल मीडिया पर रहमान मलिक को ट्रोल करना शुरू कर दिया।  

Source: 

Support Newsroompost
Support Newsroompost